सौ साला उर्स की तैयारियां मुक्कमल।

0
71
views

बरेली। 20 अक्टूबर, ग़ुस्ल व संदल की रस्म अजमेर शरीफ के गद्दीनशीन और कुल शरीफ की रस्म मारहरा के सज्जादानशीन कराएंगे अदा।

खानकाही रिवायत से दरगाह आला हज़रत पर सौ साला उर्स की रस्में अदा की जाएगी। हिंदुस्तान की मशहूर दरगाह अता ए रसूल ख़्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह से आला हज़रत को बड़ी अकीदत थी यही अक़ीदे दरगाह प्रमुख हज़रत मौलाना सुब्हान रज़ा खान (सुब्हानी मियां) का गरीब नवाज़ की बारगाह से आज भी है।

दरगाह से जुड़े नासिर कुरैशी ने बताया कि हर साल उर्स शुरू होने से एक दिन पहले दरगाह पर ग़ुस्ल के बाद संदल पेश किया जाता है। उर्स की पहली रूहानी रस्म को 2 नवंबर की देर रात को दरगाह अजमेर शरीफ के गद्दीनशीन सय्यद सुल्तान अशरफ चिश्ती हज़रत सुब्हानी मियां और सज्जादानशीन मुफ़्ती अहसन रज़ा क़ादरी, सय्यद आसिफ मियां के साथ अदा करेगें। इस रस्म में दुनिया भर से आये उलेमा भी शामिल रहेगें। गुलाब जल से ग़ुस्ल के बाद अजमेर शरीफ से लाया गया संदल पेश किया जाएगा।

वहीं उर्स की आखिरी रस्म 5 नवंबर को अदा की जाएगी। इस रस्म को आला हज़रत के पीर खाने मारहरा शरीफ के सज्जादागान अल्लामा सय्यद अमीन मियां साहब व हज़रत सय्यद नज़ीब मियां साहब अदा कराएगे। इसी के साथ उर्स का समापन होगा।

दरगाह प्रमुख हज़रत सुब्हानी मियां व सज्जादानशीन मुफ़्ती अहसन मियां रिवायत के मुताबिक मारहरा शरीफ के सज्जादागान को दावत नामा देने खुद जाएगें।

उर्स की तैयारियों को लेकर शहर भर में सज्जादानशीन की सदारत में बैठको को दौरा जारी है। टीटीएस के मुफ़्ती रिज़वान नूरी, मौलाना बशीर क़ादरी, आबिद खान,हाजी मोहम्मद जावेद खान, नासिर कुरैशी, अजमल नूरी, परवेज नूरी, शाहिद नूरी, आलेनबी, मंज़ूर खान, मुजाहिद बेग, नावेद रज़ा, अशमीर रज़ा, मोहसिन खान, तारिक़ सईद, आसिफ रज़ा, इशरत नूरी, गौहर खान, इरशाद खान, काशिफ खान, जुनैद खान, शान रज़ा, सय्यद माज़िद, सय्यद एजाज़, अरफ़ात रज़ा क़ादरी, कामरान खान, नईम नूरी, यूनुस गाज़ी, आसिफ नूरी, साजिद रज़ा, यामीन नूरी, काशिफ सुब्हानी, सय्यद फरहत, राशिद अल्वी, इकबाल सईद, सबलू अली, यामीन कुरैशी, अदनान रज़ा, आरिफ रज़ा, फ़ारूक़ खान आदि लोग जुटे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here