Monday, November 19, 2018
Home स्वास्थ्य पंजाब कैसे निकल पाएगा ड्रग्स की लत से बाहर

पंजाब कैसे निकल पाएगा ड्रग्स की लत से बाहर

0
104
views

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चुनावों के दौरान यह वादा किया था कि वो महज़ चार हफ़्ते में राज्य को ड्रग्स मुक्त बना देंगे.

क़रीब देढ़ साल बीत जाने के बाद भी ऐसा नहीं हो सका है. उन्हें अब आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है. पंजाब की सरकार ने इस समस्या के निपटने के लिए कई उपाय अपनाए हैं.

उन उपायों में से एक उपाय है नशा मुक्ति केंद्र का. पिछले कुछ महीनों में यहां आने वाले मरीजों की संख्या एकाएक उछाल देखी गई है.

यह पहली बार नहीं है जब इस तरह के उपाय किए गए हों, पहले की सरकारों ने भी ऐसा किया था. इससे पहले की एनडीए सरकार ने भी साल 2014 में इस तरह की कोशिश की थी.

नशे की लत के शिकार लोगों को बसों में भर-भर कर नशा मुक्ति केंद्र पहुंचाया जाता था. ये काम अक्सर पुलिस वाले करते थे ताकि जो लक्ष्य तय किए गए थे, उसे पूरा किया जा सके.

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 2014 में ऐसे मरीज़ों की संख्या क़रीब 2.89 लाख थी. आगे के सालों में इनकी संख्या घटती चली गई.

2015 में नशा मुक्ति केंद्र में आने वाले मरीज़ों की संख्या 1.89 लाख थी. 2016 में संख्या में और गिरावट देखी गई और आंकड़ा 1.49 लाख पर पहुंच गया. वहीं 2017 में मरीज़ों की संख्या 1.08 लाख हो गई.

अब सवाल यह उठता है कि क्या वर्तमान सरकार के उठाए गए क़दम पंजाब को ड्रग्स मुक्त बना पाएंगे? या फिर ये उपाय राजनीतिक हो-हल्ला बन कर रह जाएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here