वायरस फैलने की वजह नहीं हैं चमगादड़

0
159
views

केरल में निपाह वायरस के कारण 12 लोगों की जान जाने के बाद अचानक से ये वायरस खासा चर्चा में आ गया है। 1998 में मलेशिया में इस वायरस के फैलने का कारण फ्रूट बैट्स (चमगादड़ों की एक प्रजाति) थे। इसी आधार पर पहले ये कहा गया कि भारत में भी इस वायरस को फैलाने वाले चमगादड़ हैं मगर हाल में हुई एक जांच में इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि केरल में इस वायरस का कारण चमगादड़ थे।

दरअसल इस वायरस के कारण सप्ताह भर में 12 लोगों की मौत हो जाने के बाद केरल की राज्य सरकार इसे लेकर गंभीर हो गई और इसके कारणों का पता लगाने की कवायद शुरू हो गई। भोपाल स्थित ‘नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ हाई सिक्योरिटी एनिमल डिजीज़ेज’ ने संक्रमण वाले क्षेत्र से पकड़े गए 21 चमगादड़ों के खून और लार की जांच करने की। जांच में इन चमगादडों में ये संक्रमण नहीं पाया गया है। इसके साथ ही संक्रमित क्षेत्र के कई अन्य जानवर जैसे गाय, बकरी, खरगोश, कुत्ते, बिल्ली आदि के सैंपल्स की भी जांच की गई मगर निपाह वायरस की पुष्टि किसी भी जानवर के सैंपल में नहीं हुई है। इस जांच के मुताबिक केरल के कझिकोड में फैले इस वायरस का कारण जानवर नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here