तेजी से चल रही हैं उर्स की तैयारियां,क्या टूटी फूटी सड़कों से गुजरेंगे जायरीन?

0
12
views

जानलेवा गड्ढो और टूटी सड़कों से गुजरते हुए दरगाह पहुंचेगे विदेशी ज़ायरीन।

बरेली। आला हज़रत फाज़िले बरेलवी के सौ साला उर्स के दिन जैसे जैसे करीब आ रहे है तैयारियां का सिलसिला भी तेजी से चल रहा है। तैयारियों को लेकर आज एक अहम बैठक दरगाह प्रमुख हज़रत मौलाना सुब्हान रज़ा खान (सुब्हानी मियां) की सरपरस्ती व सज्जादानशीन मुफ़्ती अहसन मियां की सदारत में हुई।

आगाज़ कारी सय्यद फुरकान अली ने तिलावत ए क़ुरान से किया। बैठक को संबोधित करते हुए मौलाना अख्तर हुसैन ने कहा कि हम लोग बड़े खुशकिस्मत है कि हम जश्न ए सदसाला मना रहे है और उसमें आने वाले ज़ायरीन की खिदमत का मौका मिला। सभी लोग उर्स में बढ़चढ़ कर हिस्सा ले। मुफ़्ती सय्यद कफ़ील हाशमी ने कहा कि उर्स को यादगार बनाने के लिए अभी से जुट जाएं।

नासिर कुरैशी ने कहा कि बड़ी संख्या में उर्स में शामिल होने विदेशी मेहमानों की इत्तेला मिल रही है। बिहारीपुर ढाल से दरगाह के रास्ते जसौली पुलिया तक, सिटी सब्ज़ी मंडी से मलूकपुर चौकी, चौपला चौराहा से किला व कुतुबखाना तक जगह जगह जान लेवा गड्ढे हो गए है इसे सही कराने की मांग ज़िला प्रशासन से की।

दरगाह प्रमुख के सचिव व पूर्ब मंत्री आबिद खान व हाजी जावेद खान ने ज़ायरीन के इस्तेकबाल के लिए पूरे शहर में होर्डिंग्स और बैनर लगाने का सुझाव रखा। टीटीएस के इशरत नूरी और औरंगज़ेब नूरी ने सुझाव दिया कि उर्स के दौरान सभी लोग अपने अपने एरिया को सजाये।

इसके अलावा मंज़ूर खान, परवेज़ नूरी, मोहसिन रज़ा, तारिक़ सईद,सय्यद फरहत अली, एडवोकेट काशिफ, नफीस खान,आलेनबी, शाहिद खान नूरी, अजमल नूरी, सय्यद मयदस्सिर अली ने भी संबोधित कर अपनी अपनी राय रखी। अगली बैठक 18 अक्टूबर को दरगाह पर होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here