लोगों का करोड़ों समेट के रफू चक्कर सिमरन माफिया

पुलिस-सरकार की नाक के नीचे कैश का अवैध कारोबार  

चेतन गुरुंग

और अब एक और किट्टी माफिया भाग गईं। करोड़ों का माल समेट के। GMS रोड से। सिमरन थी कोई। अभी तो और भी भागेंगी। पुलिस उनको पूरा मौका देगी। जल्दी से जल्दी। करोड़ों और एकट्ठा करो। फिर निकल लो। अभी और भी कई माफिया हैं। किट्टी का अवैध धंधा चला रहीं। पुलिस और सरकार की नाक के ऐन नीचे। आए दिन करोड़ों की किट्टी चल रहीं। कैश के नाम पर महीनों बाद सोना दे रहीं।

सोने की गुणवत्ता का भी भगवान मालिक। भागते भूत की लंगोटी भली। ऐसा सोच के नकली टाइप का सोना भी ले ही रहे हैं। मेंबर्स। पुलिस को सब पता है। सरकार को इस अवैध धंधे पर लगाम लगानी हो तो LIU से रिपोर्ट मांगा ले। कितनी और किन रेस्तरां-होटल में किट्टी हो रहीं? मुझे कोई दिन ऐसा नहीं जाता। जब कुछ न कुछ महिलाओं के रोते-ढोते फोन न आते हों।

किसी को छह महीने से तो किसी को साल भर से भुगतान नहीं हुआ है। नहीं देंगे, क्या कर लोगी? जेल चले जाएंगे। फिर ले लेना एक पैसा भी। पैसे डूब जाने के डर से बेचारी महिला मेंबर्स सिर्फ गिड़गिड़ा सकती हैं। माफिया के सामने। मजबूरी बता सकती हैं। पैसे दे दो प्लीज बोल सकती हैं। एक महिला रेखा अरोड़ा का फोन आया। बेटे की शादी अगले महीने हैं। पैसे की जरूरत है। महीनों बाद कल जब बहुत रोना-धोना किया। धमकी दी। पुलिस के पास जाने की। तब जा के उसके माफिया ने कच्चा-पक्का सोना दिया। छह महीने तक एक्सचेंज न करने की शर्त के साथ।

एक बीनु नाम की महिला हैं। एजेंट का काम करती थी। उसका भी 8-9 लाख रुपए उसकी ही माफिया के पास फंसे हुए हैं। दे के राजी नहीं। उसके किसी भी मेंबर्स का पैसा। बहुत परेशान है। पुलिस पर किसी का भरोसा दिख नहीं रहा। बड़ी बात है। माफिया के नाम तो मैं लिखता रहा हूँ। जो newsspace को लगातार पढ़ रहे। मुझे फॉलो कर रहे। फेसबुक पर। उनको सारी कहानी पता होगी ही। ताज्जुब इस बात का कि देश में मंडी का आलम है। कैश फ्लो घटता जा रहा। किट्टी वाले कैश समेट रहे। सिर्फ। देने को राजी नहीं किसी को।

अभी भी शहर में कम से कम 30 किट्टी माफिया हैं। ऐसा अनुमान है। ज़्यादातर सामने नहीं आ पाए हैं। महिला मेंबर्स घबराती हैं। पुलिस में जल्दी जाने से। कहीं बदनामी उनकी भी होगी। घर-परिवार वाले नाराज होंगे। उनकी इस मजबूरी का नाजायज फायदा किट्टी माफिया उठा रहे। मौज मार रहे। पुलिस कुछ माफिया को जेल भेजने के बाद खामोश हो गई है।न जाने क्या मजबूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here