प्रमुख सचिव आनंदबर्द्धन:रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी

आबकारी आयुक्त सुशील कुमार ने `Newsspace’ से अभी फोन पर कहा-ऐसा नहीं है कि पथरियापीर जहरीली शराब से मौत कांड में देहरादून के जिला आबकारी अधिकार मनोज उपाध्याय को क्लीन चिट दी गई हो। उनके खिलाफ भी कार्रवाई जरूर होगी। प्रमुख सचिव आनंदबर्धन ने कहा-रिपोर्ट के आधार पर जरूरी कार्रवाई करेगी सरकार।

प्रमुख सचिव (आबकारी) आनंदबर्द्धन

सुशील ने कहा-मैं अभी नैनीताल हाई कोर्ट हूँ। अचानक निजी पेशी लगी। इसलिए कल ही आना पड़ा। शासन से बात हो रही है। दो इंस्पेक्टर शुजात हुसैन और मनोहर को सस्पेंड किया गया है। डीईओ पर कार्रवाई शासन करता है। इस बारे में प्रक्रिया चल रही है। देहरादून लौट आऊँगा आज ही। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। सरकार सख्त कदम उठाएगी। काबिले गौर है कि इस जहरीली शराब कांड में छह लोगों की मौत दो दिनों में हो चुकी है। कई लोग अस्पताल में गंभीर दशा में भर्ती हैं। सेना की छावनी और मसूरी विधायक गणेश जोशी के घर से ये इलाका सटा हुआ है।

आबकारी आयुक्त सुशील कुमार

प्रमुख सचिव (आबकारी) आनंदबर्द्धन ने `Newsspae’ से कहा कि सरकार ने पूरे घटनाक्रम पर रिपोर्ट तलब की है। रिपोर्ट के आधार पर जो भी कार्रवाई तय होगी, उस पर अमल किया जाएगा। देहरादून के डीईओ उपाध्याय के खिलाफ महकमे के संयुक्त आयुक्त और उपायुक्त ने भी जांच रिपोर्ट सरकार को दी है। इस रिपोर्ट के बाबत पूछे जाने पर उन्होने कहा कि ये रिपोर्ट उनके पास नहीं आई है। आयुक्त को दी गई होगी। अभी उन्होंने नहीं देखी है। उन्होंने कहा-आबकारी महकमे ने इंस्पेक्टर समेत अन्य को पुलिस से पहले सस्पेंड कर दिया था।

इस रिपोर्ट में उपाध्याय पर अनेक गंभीर आरोप लगाए गए हैं। इनमें बैंक गारंटी जमा न कराने, दुकानों को सस्ते में दे देने, बिना प्रतिभूति के भी माल की निकासी जारी रखने, लाइसेन्स फीस भी न लेने, साल भर सरकार का राजस्व दबा के बैठे लोगों को फिर से दुकानें नवीनीकृत कर सौंप देना जैसा शामिल है। इस रिपोर्ट पर कार्रवाई तो हुई नहीं है, दो अपर आयुक्तों को फिर से जांच सौंप दी गई है। देहरादून, अल्मोड़ा और उधम सिंह नगर के डीईओ के खिलाफ। अभी इसके लिखित और औपचारिक आदेश जारी होने हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here