10 से कम-65 साल से ज्यादा वालों के घर से निकलने पर रोक

सरकार ने जारी किए दोनों फरमान

Chetan Gurung

दुनिया को अपने कहर से थरथरा देने वाले अबूझ वाइरस Corona (Covid-19) को थामने के लिए उत्तराखंड सरकार ने भी विदेशी-भारतीय पर्यटकों-तीर्थयात्रियों के लिए अपने दरवाजे बंद कर दिए। इसके साथ ही 10 साल से कम और 65 साल से अधिक उम्र के लोगों के बाहर निकलने पर भी रोक लगा दी गई है। ये बन्दिशें अगले आदेश तक प्रभावी रहेंगी।

मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह के अनुमोदन के बाद चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सचिव नितेश कुमार झा ने Epedemic Diseases act-1897 के अंतर्गत उत्तराखंड में हर तरह के पर्यटकों के प्रवेश पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी। सरकार का कहना है कि सिर्फ सतर्कता और दूरी बरतने से ही Corona का हराया जा सकता है। साथ ही मृत्यु दर, मौतों और इसके फैलने के खतरे को रोका जा सकता है।

लोगों के मेल-जोल और भीड़ के कारण Corona के फैलने की आशंका अधिक रहती है। इसको नियंत्रित कर दिया जाए तो इस महामारी पर अंकुश काफी हद तक हो सकता है। सरकार ने आदेश सभी जिलों के कलेक्टर्स को दे दिए हैं। साथ ही पर्यटन तथा अन्य जरूरी विभाग को भी खास तौर पर दिए हैं। उत्तराखंड में अधिकांश हिस्से में पर्यटक भारी संख्या में हर साल आते हैं।

उत्तरकाशी, पौड़ी, चमोली, टिहरी, अल्मोड़ा, नैनीताल, पिथौरागढ़, हरिद्वार और ऋषिकेश के साथ ही देहरादून के मसूरी, चकराता हिस्से में पर्यटकों का जमावड़ा गर्मियों में खास तौर पर रहता है। अब जबकि यात्रा सीजन के साथ ही पर्यटक सीजन भी आ चुका है, Corona Virus के भी अधिक तादाद में प्रवेश और फैलने फिर मौतों का अंबार लगाने का का खतरा कहीं अधिक बढ़ चुका है।

स्वास्थ्य सचिव ने `Newsspace’ से कहा-`हरिद्वार-ऋषिकेश तीर्थ स्थल और बद्री-केदार-गंगोत्री-यमुनोत्री जैसे धामों में भी बाहरियों की रोक लगा दी गई है। तीर्थ यात्री अगर पहले से होटल-धर्मशालाओं-रिज़ॉर्ट में रुके हैं, तो ठीक है, लेकिन नए तीर्थयात्रियों को अब वे अपने यहाँ न कमरे दे सकेंगे न ही रुकने देंगे’। पर्यटक-तीर्थयात्री से आशय कम से कम एक रात गुजारने वाले से है।

त्रिवेन्द्र सरकार ने Epidemic Act के जरिये Corona कहर को नियंत्रित करने की दिशा में लगातार कई कदम उठाए हैं। झा ने कहा-`सरकार ने 65 साल से अधिक और 10 साल से अधिक उम्र के बच्चों के बाहर निकलने पर भी बंदिश लगा दी है’। ऐसा उनको Corona खतरे से बचाने की खातिर किया गया है। इसका आदेश भी जारी कर दिया गया है। PM नरेंद्र मोदी ने भी भीड़-भाड़ से बचने तथा अकेले रहने को Corona से लड़ने का प्रभावी हथियार-उपाय करार दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here