24 घंटे खुली रखेंगे OPD

CM ने हिमालयन-इंद्रेश-CMI-SYNERGY प्रबंधन और IMA से भी मांगी मदद

Chetan Gurung

कॉरोना वाइरस को शिकस्त देने के लिए निजी अस्पताल और मेडिकल कॉलेज भी सरकार का साथ देने आगे आए हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उनके प्रबंधन के साथ ही भारतीय चिकित्सा संघ (IMA) के ओहदेदारों से भी बैठक कर मिल के इस जंग को जीतने का जज्बा दिखाने की दरकार की।

मुख्यमंत्री आवास पर सोशल डिस्टेन्स के साथ हुई बैठकों में मुख्यमंत्री ने कहा कि कॉरोना के खिलाफ मिल कर लड़ेंगे तो विजय तय है। उन्होंने स्वामीराम हिमालयन हॉस्पिटल, महंत इंद्रेश मेडिकल कॉलेज, एम्स ऋषिकेश और सीएमआई प्रबंधन-सिनर्जी अस्पताल से कहा कि वे कॉरोना के खिलाफ मुहिम में पूरी ताकत से जुटें। उनको जरूरी उपकरण मुहैया कराए जाएंगे।

एम्स और दून अस्पताल में 400-400 बेड और हिमालयन तथा महंत इंद्रेश में 200-200 बेड कॉरोना मरीजों के लिए अभी उपलब्ध हैं। अस्पतालों के प्रबंधन ने बताया कि जरूरत पड़ने पर बेड क्षमता बढ़ाई जा सकती है। आईसीयू और वेंटिलेटर की संख्या भी जरूरत के मुताबिक बढ़ाई जाएगी। एंबुलेंस की भी अतिरिक्त व्यवस्था की जाएगी।

सरकार और निजी अस्पतालों-कॉलेजों में तालमेल के लिए नोडल अफसरों को नियुक्त किया गया। आईपीएस नीरू गर्ग को एम्स और हिमालयन तथा आईपीएस केवल खुराना को दून तथा महंत इंद्रेश के लिए समन्वयक बनाया गया। त्रिवेन्द्र ने आईएमए के लोगों से कहा कि निजी अस्पताल और नर्सिंग होम अपनी ओपीडी हर वक्त खुली रखें। सरकार उनको हर मुमकिन सहायता देगी।

पुलिस उनको ओपीडी व्यवस्था बनाए रखने में मदद करेगी। आईएमए के पदाधिकारियों ने कहा कि कॉरोना के खिलाफ लड़ाई सिर्फ सरकार की नहीं है। पूरे देश और समाज की है। बैठक में राज्यमंत्री धन सिंह रावत, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, स्वास्थ्य-चिकित्सा शिक्षा सचिव नितेश झा, एनएचएम निदेशक युगल किशोर पंत, सब एरिया कमांडर मेजर जनरल राजेंद्र सिंह ठाकुर मौजूद थे।

प्रबंधन से स्वामीराम हिमालयन के विजय धस्माना, एम्स के डॉ. रविकांत, सीएमआई के डॉ. महेश कुड़ीयाल, डॉ. आरके जैन, आईएमए के डॉ. डीडी चौधरी, डॉ. अजीत गैरोला, डॉ. सिद्धार्थ गुप्ता, सिनर्जी के डॉ. कृष्ण अवतार, डॉ. प्रवीण मित्तल, डॉ. शनवीर, डॉ. अरविंद ढाका, डॉ. संजय गोयल मौजूद थे।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here