स्टाफ-शिक्षकों को फौरन रुकी तनख्वाह देंगे स्कूल:आर मीनाक्षी सुंदरम

सालाना फीस वृद्धि नहीं करेंगे स्कूल, सरकार ने लगाई रोक

स्कूल-अभिभावकों को एक साथ साधने की कोशिश

Chetan Gurung

सरकार ने फैसला किया है कि प्राइवेट स्कूलों की फीस माफ नहीं की जाएगी, लेकिन कोई बच्चा फीस नहीं दे पा रहा है तो उसको स्कूल से निकाला भी नहीं जाएगा। अभिभावकों को एक और राहत देते हुए सरकार ने सालाना फीस वृद्धि करने पर स्कूलों को रोक दिया है। स्कूल स्टाफ और शिक्षकों की तनख्वाह न रोकने और इसे फौरन जारी करने का फैसला भी कर दिया है।

Secretary (Education):R Meenakshi Sundaram

शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने `Newsspace’ से कहा, `सरकार नहीं चाहती कि किसी भी पक्ष का नुक्सान हो। कॉरोना और लॉक डाउन के कारण अधिकांश बच्चों के माता-पिता-अभिभावक बेहद परेशान हैं। उनकी फीस देने को ले कर संकट की स्थिति से सरकार अच्छी तरह वाकिफ है। साथ ही स्कूल प्रबंधन की समस्याओं और खर्चों से भी वह अनभिज्ञ नहीं है। इसलिए ऐसा रास्ता निकाला गया है, जिससे दोनों ही पक्ष अधिक प्रभावित न हो’।

सरकार के फैसलों की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा, `स्कूलों के अपने भी बहुत बड़े खर्चे हैं। उसको भी तनख्वाहें देनी हैं। कई किस्म के बड़े बिल चुकाने हैं। ये मुमकिन नहीं है कि फीस लेने से किसी भी स्कूल को मना किया जा सके। फीस नहीं लेंगे तो वे स्कूल ढंग से चला भी नहीं पाएंगे। वे फीस लेंगे, लेकिन कुछ शर्तें लगा दी गई हैं’।

मीनाक्षी सुंदरम ने बताया,`फीस न दे पाने वाले बच्चों के नाम कोई भी स्कूल अपने रजिस्टर से नहीं काट सकेंगे। उन पर फीस फौरन जमा करने के लिए दबाव भी नहीं डालेंगे। ऐसे बच्चों से वे बाद में फीस ले सकेंगे’। एक अहम फैसला सरकार ने ये लिया कि स्कूल हर साल की तरह नए सेशन में फीस नहीं बढ़ा सकेंगे।

सरकार के आदेश के मुताबिक जो फीस दर इस साल है, यही अगले सेशन में रहेगी। जो बच्चे फीस देना चाहते हैं, लेकिन लॉक डाउन के कारण नहीं दे पाए हैं, वे ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। बक़ौल शिक्षा सचिव, `कुछ स्कूलों में `Quraterly’ तो कहीं `Half Yearly’ एकमुश्त फीस लेने का नियम है। वे मौजूदा हालात को देखते हुए ऐसा नहीं कर सकेंगे। जो देना चाहे, उससे लेने की छूट अलबत्ता, उनको दी गई है’।

इससे भी अभिभावकों को काफी राहत मिलेगी। सरकार के पास ये भी शिकायत आ रही है कि कई स्कूलों ने कॉरोना संकट और लॉक डाउन तथा फीस न आने के बहाने अपने स्टाफ की तनख्वाह रोक दी है। इस पर कार्रवाई करते हुए सरकार ने आदेश कर दिया है। शिक्षा सचिव ने कहा,`स्कूल प्रबंधन अपने कार्मिकों-शिक्षकों की तनख्वाह तुरंत जारी करेंगे। ऐसा न करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी’।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here