शराब के शौकीनों को झटका:ताजा आदेश में भी रहम नहीं

Related Articles

बार-Liquor शॉप के लिए अलग आदेश होगा:प्रमुख सचिव आनंदबर्द्धन

केंद्र की दुकानें खोलने के फरमान पर देहरादून में अमल के आसार

लगातार छूटों से 4 मई तक रंगत पकड़ सकता है बाजार!

Chetan Gurung

केंद्र सरकार ने दुकानों को खोलने से जुड़ा आदेश तो कर दिया, लेकिन इसमें भी शराब के बेसब्र शौकीनों को निराश कर दिया। जाम से अपने होंठ गीले करने के लिए उनको अभी और इंतजार करना होगा। प्रमुख सचिव (आबकारी) आनंदबर्द्धन ने `Newsspaace’ से कहा, `केंद्र के दुकानें खोलने के नए आदेश में शराब की दुकानें शामिल नहीं हैं’। देहरादून के जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने कहा, `दुकानें खोलने के मामले में फैसले-आदेश का शाम तक इंतजार करें’।

Principal Secretary (Excise) Anandbarddhan

केंद्र सरकार ने दुकानों को खोलने की मंजूरी तो दी है, लेकिन मॉल, मल्टी या सिंगल ब्रांड स्टोर खोलने पर बंदिश बरकरार रखी है। साथ ही खेल स्टेडियम, जिम, मल्टीप्लेक्स, पार्क समेत कई अन्य स्थानों के खोले जाने पर प्रतिबंध को बनाए रखा है। केंद्रीय गृह मंत्रालय की तरफ से जारी आदेश में ये जिक्र नहीं है कि शराब की दुकानों पर प्रतिबंध बना रहेगा या खोले जाएंगे?

Dr.Ashish Shriwastav:DM Dehradun

हकीकत ये है कि अगर सबसे ज्यादा इंतजार अगर किसी दुकान के खुलने का किया जा रहा है तो वह शराब की दुकान और बार ही हैं। आलम ये बताया जा रहा है कि काला बाजार और अवैध शराब की दुनिया में भी सुरा के शौकीनों को अब निराशा हाथ लग रही है। माल पूरी तरह खत्म हो चुका है। कच्ची शराब भी पुलिस और आबकारी महकमे की कड़ी नजर के चलते उपलब्ध नहीं हो पा रही है।

केंद्र सरकार के दुकानों को खोलने के फैसले के बावजूद शराब की दुकानों के बारे में प्रमुख सचिव आनंदबर्द्धन ने साफ कहा, `दुकानों को खोलने के फैसले में शराब की दुकानों-बार शामिल नहीं हैं। केंद्र सरकार को ये खोलने होंगे, तो वह अलग से आदेश करेगी। केंद्र के फैसले से ही ये दुकानें बंद हैं। खोलने के आदेश भी वही करेगी। इसमें राज्य सरकार की कोई भूमिका नहीं है’।

जिलाधिकारी डॉ.आशीष ने दुकानों को खोलने के बारे में `Newsspace’ से कहा, `केंद्र के आदेश के बाद इसको लागू करने या फिर किस सूरत में लागू करें, इस पर विचार किया जा रहा है। आज वैसे भी ये लागू नहीं हो पाएगा। दोपहर एक बजे तक ही बाजार खोलने का फैसला अभी तक था’। उन्होंने अलबत्ता, संकेत दिया कि केंद्र के आदेश पर काफी हद तक अमल हो सकता है।

देहरादून को कॉरोना संकट के कारण Red Zone में शामिल किया गया है। यहाँ के कुछ मोहल्लों के Hot Spot होने के कारण ऐसा किया गया है। उम्मीद जताई जा रही है कि जिले के जो इलाके कॉरोना मुक्त हैं या फिर Hot Spot नहीं हैं, वहाँ केंद्र के फैसले के चलते राहत दी जाएगी। एक आसार ये भी दिख रहे हैं कि 3 मई तक लॉक डाउन रहने के बाद आधे से ज्यादा मार्केट और दफ्तर एहतियात के साथ खोल दिए जाएंगे। केंद्र सरकार लॉक डाउन से रोजाना तमाम छूट और सुविधाएं दे रही हैं। आने वाले हफ्ते में ये छूट बहुत अधिक हो सकती हैं।

More on this topic

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisment

Popular stories

You cannot copy content of this page