Big Breaking:हर फंसे उत्तराखंडी को घर तक पहुंचाएगी त्रिवेन्द्र सरकार,ऑपरेशन शुरू

Related Articles

सचिव शैलेश बगौली ने संभाला ऑपरेशन घर वापसी

सरकार ने खोला रजिस्ट्रेशन,UP-Delhi-राजस्थान समेत देश भर से लाए लाएँगे लोग

इसको भरें:http://dsclservices.in/uttarakhand-migrant-registration.php

Chetan Gurung

त्रिवेन्द्र सरकार ने देश भर में फंसे उत्तराखंड के लोगों को घर-परिवार के पास लौटने के लिए ऑपरेशन घर-वापसी शुरू कर दिया है। आला नौकरशाह शैलेश बगौली इस ऑपरेशन की ज़िम्मेदारी संभाल रहे हैं। बगौली ने `Newsspace’ से कहा, `राजस्थान और यूपी-दिल्ली वालों को सबसे पहले ले के आएंगे, लेकिन देश के किसी भी हिस्से में फंसे उत्तराखंडी को उसके घर और परिवार के पास जरूर लाएँगे’। प्राथमिकता उनको देंगे जो राज्य सरकारों के राहत शिविरों में मजबूरी में रह रहे हैं।

हर फंसे उत्तरखंडी को घर-परिवार तक पहुँचाने का फैसला

सरकार ने इसके लिए रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया है। जो भी अपने परिजनों को बाहर से लाना चाहते हैं या जो अपने घर लौटना चाहते हैं, उनको देहरादून स्मार्ट सिटी का फार्म भरना होगा। सरकार ने आज इसको जारी कर दिया। http://dsclservices.in/uttarakhand-migrant-registration.php address पर सभी औपचारिकताओं के बारे में बताया गया है। इसको भरते समय सभी जानकारी देनी होगी। इसके बाद उनको उनके शहर में जा के लाया जाएगा।

ऑपरेशन घर वापसी के मुखिया:सचिव शैलेश बगौली

बगौली ने बताया कि देश के तकरीबन सभी राज्यों में ये ऑपरेशन चलाया जाएगा। हर राज्य और शहर में कम-ज्यादा उत्तराखंडी मुश्किल हालात में फंसे हुए हैं। उनको लाने के लिए प्राथमिकता तय की जा रही है। अपने घरों में रहने वालों के बजाए पहले उन लोगों को लाने में वरीयता दी जाएगी, जो राज्य सरकारों के राहत शिविरों में रह रहे हैं। उनके बाद अन्य सभी को लाया जाएगा। लाने के लिए बसों का इस्तेमाल किया जाएगा।

बगौली ने `Newsspace’ से कहा, `लोगों को लाने का कार्य तत्काल शुरू किया जा रहा है। जो लोग रजिस्ट्रेशन जल्दी करेंगे, उनके बारे में जल्दी फैसला किया जाएगा’। उन्होंने बताया कि उत्तराखंडियों को लाने के लिए अन्य राज्य सरकारों से बातचीत शुरू कर दी गई हैं। केंद्र सरकार ने राज्यों को अपने फंसे लोगों को निकाल के लाने की छूट दे दी है।

मोदी सरकार के बाद त्रिवेन्द्र सरकार के इस फैसले से उन परिवारों और लोगों में खुशी की लहर दौड़नी स्वाभाविक है, जो खुद फंसे हैं या फिर उनके परिजन किसी न किस शहर में फंसे हुए हैं। कई तो दक्षिण और कई पूर्वी-पश्चिमी राज्यों के शहरों में बुरी दशा में हैं। केंद्र सरकार के इस छूट को इस संदर्भ में भी देखा जा रहा है कि वह कॉरोना के कारण जारी लॉक डाउन को 3 मई के बाद भी आगे बढ़ाने का ईरादा रखती है।  

More on this topic

Comments

  1. Helo sir,
    My name is Abhinav Patwal , I love kotdwar right I am stuck at bengluru due to covid-19 . Now I didn’t have money and I have to pay my rent to pg owner for next month . So plz sir help me so I can go home.

  2. हैलो सर
    मेरा नाम मनोज रावत है मै कोविड 19 की वजह से ग्रेटर नोएडा में हूं और अब अपने घर जाना चाहता हूं क्यों की अब मै किराया नहीं दे पाऊंगा इसलिए आपसे अनुरोध है कि मेरी मदद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisment

Popular stories

You cannot copy content of this page