ग्रीन से अब ऑरेंज में आने की आशंका

देहरादून लगातार 5 वें दिन दोपहर तक कॉरोना मुक्त

Chetan Gurung

उधम सिंह नगर में आज एक साथ 4 कॉरोना पॉज़िटिव केस मिलने से खलबली मची हुई है। इसके साथ ही जिले में अब 9 पॉज़िटिव केस हो गए हैं, जो उत्तराखंड में सबसे ज्यादा हैं। देहरादून के लिए राहत की बात है। लगातार पांचवें दिन दोपहर तक कॉरोना का कोई केस नहीं मिला है। यहाँ अब सर्वाधिक 34 में से सिर्फ 7 केस ही पॉज़िटिव बचे हुए हैं।: प्रदेश में अब 67 कॉरोना पॉज़िटिव केस हो चुके हैं।

उधम सिंह नगर में अब तक मिले तो सिर्फ 13 कॉरोना पॉज़िटिव लेकिन अचानक ही 4 नए केसों ने उसका ट्रैक रेकॉर्ड खराब कर दिया। अब उसके ग्रीन जोन से ऑरेंज जोन में शिफ्ट होने की आशंका बहुत बढ़ गई है। डबलिंग रेट (6.32 दिन) भी देहरादून (80 दिन) और हरिद्वार (36.34 दिन) के मुक़ाबले खराब है।

कॉरोना के मामले में सबसे शानदार प्रदर्शन पौड़ी का रहा है। 45 दिनों से वहाँ एक भी कॉरोना पॉज़िटिव केस नहीं मिला है। अल्मोड़ा में भी 34 दिन हो चुके हैं। एक भी कॉरोना केस नहीं पाया गया है। इसके लिए पौड़ी के डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल और अल्मोड़ा के डीएम नितिन भदौरिया को श्रेय काफी हद तक दिया जा सकता है। दोनों ने अपने जिले में कॉरोना नियंत्रण के मामले में बहुत शानदार नतीजे दिए हैं। मेहनत की है।

हैरानी की बात ये है कि उधम सिंह नगर से हर मामले में बेहतर नजर आने के बावजूद हरिद्वार (8 पॉज़िटिव) रेड जोन में है, जबकि उधम सिंह नगर (13 पॉज़िटिव) को ग्रीन जोन मिला हुआ है। इस बारे में कॉरोना मामलों के प्रदेश प्रभारी अपर सचिव युगल किशोर पंत ने `Newsspace’ से कहा, `रंगों के प्रकार और जोन केंद्र सरकार तय करती है। इसके लिए उसने मानक बनाए हुए हैं’।

देहरादून के 5 समेत प्रदेश में कुल 8 कंटेनमेंट जोन अभी हैं। वार्ड नंबर 25, शिवा एंक्लेव, 29 बीघा जमीन (सभी ऋषिकेश), आजाद नगर कॉलोनी और चमन विहार इस जोन में हैं। नैनीताल में बनभूल पुरा (हल्द्वानी), हरिद्वार में नागला (रूड़की तहसील) और वार्ड नंबर-13 (बाजपुर तहसील) कंटेनमेंट जोन हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here