,

IFS विनय का आइडिया है पिथौरागढ़-मुन्श्यारी ट्यूलिप गार्डन

पर्यटकों का फेवरिट डेस्टिनेशन बन सकता है ये प्रोजेक्ट

Chetan Gurung

कोरोना और लॉक डाउन ने दुनिया और देश के साथ ही देवभूमि की अर्थ व्यवस्था की जड़ें तक हिला डाली है। राज्य सरकार विवश है कि अब ऐसा क्या किया जाए जिससे लॉक डाउन खत्म होने के बाद उसकी अर्थ व्यवस्था पटरी पर आने लगे। पिथौरागढ़ का ट्यूलिप गार्डन इन दिनों सरकार की पर्यटन योजनाओं में शिखर पर नजर आ रहा है। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के साथ ही मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह भी इस योजना को बहुत अभिनव और पर्यटन के लिहाज से बेहद अहम मान रहे हैं। खास बात क्या है? पर्यटन महकमा जिसको ले के इतना उत्साहित है, वह दरअसल IFS अफसर विनय भार्गव का ब्रेन चाइल्ड है।

IFS Vinayu Kumar Bhargav

आज भी युवा विनय ही इस प्रोजेक्ट को संभाले हुए है। वही इसको अंजाम तक पहुंचाने के लिए जी-जान से जुटे हैं। इसमें शक नहीं कि अभी शुरुआती दौर में ही ये प्रोजेक्ट अपनी खूबसूरती से लोगों को मोहने लगा है। जो भी एक बार मुन्श्यारी में काफी हद तक तैयार हो चुके ट्यूलिप गार्डन को देखता है, वह हैरानी और खुशी से अवाक सा हो रहा है।

पिथौरागढ़ में मोस्टुमानव मंदिर के पास (चंडाक) में भी ट्यूलिप गार्डन, जो तकरीबन 50 एकड़ का होगा, प्रारम्भिक चरण में है। विनय ने `Newsspace’ से कहा, `मुन्श्यारी के ईको पार्क में जो ट्यूलिप गार्डन तैयार किया है, वह सिर्फ अपने सौंदर्य के कारण नहीं बल्कि स्थान के कारण भी दुनिया भर के पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बन सकता है। बर्फ से लक-दक पंचाचुली पर्वत शिखर को इस ट्यूलिप गार्डन से देखने का अद्भुत आनंद और लुत्फ है’।  

मुख्यमंत्री जब पिथौरागढ़ के चंडाक में ट्यूलिप गार्डन को देखने गए थे तो उनको ये प्रोजेक्ट बहुत भा गया था। इसके बावजूद वन विभाग से ये प्रोजेक्ट हटा के पर्यटन को सौंप दिया गया। बावजूद इसके कि पर्यटन विभाग में इस प्रोजेक्ट को ले के इतनी दिलचस्पी दिखाने वाले अफसर न तो थे, न उनके पास इस प्रोजेक्ट को आकृति देने के लिए योग्य विशेषज्ञ ही थे। अच्छी बात ये है कि सरकार ने आखिर कार दोनों ट्यूलिप गार्डन का जिम्मा विनय को ही सौंपा है।

विनय ने इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट के लिए CSR में ONGC से बजट लेने के लिए बहुत कोशिशें की हैं। राज्य सरकार से बजट की व्यवस्था पर्याप्त न होने के कारण वह इस कोशिश में जुटे हुए हैं। पिथौरागढ़ में विमान सेवाएँ शुरू होने और पहले से ही अपार कुदरती सौन्दर्य ओढ़े बैठी सोर घाटी के लिए ट्यूलिप गार्डन बिला शक बेहतरीन आर्थिकी और पर्यटन का केंद्र बन सकता है। सरकार इसको मान रही है। पर्यटन पर समीक्षा बैठक के दौरान भी मुख्य सचिव का इस प्रोजेक्ट का सकारात्मक तौर पर जिक्र करना इसको साबित करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *