पिता IMA पोस्टिंग में थे 70-80 के दशक में:कोझिकोड प्लेन क्रेश में हुई मौत

दसवीं बोर्ड के रेकॉर्ड बताते हैं कि बेहद प्रतिभावान थे

Chetan Gurung

कोझिकोड (केरल) में एयर इंडिया के विमान क्रेश में दिवंगत कैप्टन दीपक वसंत साठे ने देहरादून के Cambrian Hall स्कूल से दो बार पढ़ाई की थी। स्कूल के प्रधानाचार्य सुरेश चंद ब्याला ने `News Space’ से कहा, `हमने उनके 10वीं बोर्ड के रिजल्ट देखे। वह बेहद प्रतिभावान छात्र थे’। उन्होंने स्कूल के ओल्ड बॉयज के इस दुखद निधन पर शोक जताते हुए श्रद्धांजली अर्पित की।

वंदे भारत मिशन के अंतर्गत मुसाफिरों से भरे बोइंग को ले के दुबई से लौट रहे कैप्टन दीपक की कल हुए हादसे में दुखद मृत्यु हो गई। वह वायुसेना के पूर्व अधिकारी थे। Wing Commander के रैंक से उन्होंने 22 साल की सेवा के बाद रिटायरमेंट ले लिया था। उसके बाद वह एयर इंडिया में कमर्शियल पायलट हो गए थे। वह बेहद अनुभवी पायलटों में शुमार होते थे। वह मुंबई के रहने वाले थे और उनका परिवार वहीं है।

देहरादून में ONGC और GTC हेलीपैड के मध्य स्थित Cambrian Hall स्कूल के वह पूर्व छात्र थे। स्कूल के रेकॉर्ड के मुताबिक वह 1966 में पहली बार भर्ती हुए। अगले साल पिता का तबादला हो जाने के बाद स्कूल छोड़ के चले गए। फिर 1975 में वह फिर स्कूल में भर्ती हुए। अगले साल फिर 11वीं कक्षा पास करने के बाद पिता के एक बार फिर तबादले के चलते वह स्कूल से चले गए। उनके पिता सैन्याधिकारी थे। वह तब मेजर रैंक में थे। IMA में उनकी दो बार पोस्टिंग हुई तो दीपक वसंत के साथ ही बड़े बेटे का एडमिशन भी Cambrian Hall में कराया था।

स्कूल के प्रधानाचार्य ब्याला ने बताया कि उन्होंने स्कूल के पुराने रेकॉर्ड चेक किए। दीपक के रेकॉर्ड के मुताबिक वह दसवीं की बोर्ड परीक्षा में स्कूल के 49 बच्चों में तीसरे स्थान पर थे। जो साबित करता है कि छात्र जीवन में वह काफी पढ़ाकू और प्रतिभावान थे। स्कूल से निकल के वह NDA में गए। वहाँ भी उन्होंने टॉप करने के साथ ही President Gold Medal जीतने का सम्मान अर्जित किया। फिर Air Force Academy में Sword of Honor जीता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here