DM डॉ.आशीष ने कहा-बंदी को ले के विसंगतियों पर विचार होगा

शराब की दुकानों का वक्त 11 बजे और बाजार का 8 बजे होने पर कारोबारियों में असंतोष

Chetan Gurung

आम दिनों में रात 8 बजे और रविवार को `Lock Down’ जैसी बाजार बंदी से कारोबारियों को राहत मिलने वाली है। DM डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने `News Space’ से कहा कि उनके संज्ञान में ये जानकारी आई है कि बाजार बंदी के तरीके और वक्त को ले के कारोबारियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। रात 8 बजे बाजार बंद करने के फैसले पर पुनर्विचार किया जाएगा। साप्ताहिक बंदी भी Lock Down जैसी न करने पर विचार जरूर होगा। कल (रविवार) तो पुराने किस्म की बंदी ही लागू होगी, लेकिन अगले रविवार से इसमें राहत देने पर विचार जरूर किया जाएगा।

DM डॉ. आशीष श्रीवास्तव: देहरादून में रात 8 बजे बाजार बंदी और साप्ताहिक बंदी लॉक डाउन जैसी न होने देने पर विचार होगा

बाजार पहले ही कोरोना और लॉक डाउन के मार से पिटा हुआ है। ऐसे में सरकार की आजादी के बावजूद जिला प्रशासन के कठोर फैसलों से कारोबारी और परेशान और बरबादी की तरफ बढ़ रहे हैं। रात 8 बजे के बाद ही कारोबार रफ्तार पकड़ता है, लेकिन उसी वक्त बाजार जबरन बंद कराने के लिए पुलिस पहुँच जाती है। रक्षा बंधन-जन्म अष्टमी पर भी इसके चलते कारोबार उम्मीदों से कहीं कमजोर साबित हुआ।

इसी तरफ रेस्तरां साप्ताहिक बंदी के दिन (नगर निगम और कैंट में रविवार) पूरी तरह बंद कराए जा रहे हैं। उनको सिर्फ होम डिलिवरी की मंजूरी दी गई है। ये छूट तो उनको कठोर लॉक डाउन के दौरान भी केंद्र सरकार से ही मिली हुई थी। UnLock-3 के बावजूद उनको आज भी साप्ताहिक बंदी के दिन लॉक डाउन का ही पालन करना पड़ रहा है। रेस्तरां स्वामियों का तर्क है कि उनकी साप्ताहिक बंदी का कोई प्रावधान शुरु से नहीं है। उनके कर्मचारियों को अलग-अलग दिन साप्ताहिक छुट्टी दी जाती है। न कि सभी को एक ही दिन। इसलिए रेस्तरां हफ्ते भर खुले रखे जाते हैं।

शराब की दुकानों को भी रात 8 बजे तक ही खोलने का प्रतिबंध था। जिला प्रशासन ने इसको अब रात 11 बजे (नगर निगम क्षेत्र में) कर दिया है। अन्य क्षेत्रों में ये वक्त रात 10 बजे कर दिया है। ऐसे में अब भी सामान्य बाजार रात 8 बजे तक बंद करा देने के प्रशासन के फैसले पर जबर्दस्त अंगुली उठ रही है। DM डॉ. आशीष ने कहा कि बंदी के तौर-तरीकों और वक्त को ले के वह विचार करेंगे। ये बातें उनके संज्ञान में पहले नहीं थीं।

उन्होंने कहा कि कल (रविवार) को बाजार बंद रखने या फिर खोलने का फैसला करने का वक्त नहीं रह गया है, लेकिन अगले रविवार को ले के फैसला जरूर किया जाएगा। रात 8 बजे सामान्य दिनों में बाजार बंद किए जाने संबंधी मामले पर भी वह गंभीरता के साथ लेंगे। इस पर कल फैसला करने की कोशिश करेंगे।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here