Home उत्तराखंड Big-Big Breaking::सिर्फ 10वीं-12वीं की चलेंगी क्लासेज::`News Space’ की खबर पर Cabinet का...

Big-Big Breaking::सिर्फ 10वीं-12वीं की चलेंगी क्लासेज::`News Space’ की खबर पर Cabinet का ठप्पा

0
16

1 नवंबर से आंशिक रूप से खुलेंगे स्कूल:SoP होगी तैयार

CM ने कहा-सोशल डिस्टेन्सिंग के साथ स्कूल खोलने में हर्ज नहीं

Chetan Gurung

त्रिवेन्द्र सरकार ने कोरोना महामारी के खतरे को देख बोर्ड इम्तिहानों के मद्देनजर फिलहाल, सिर्फ 10वीं और 12वीं की कक्षाओं को ही 1 नवम्बर से शुरू करने का फैसला किया। खास बात ये है कि उस दिन SunDay है। `News Space’ ने 9 अक्टूबर को ही स्टोरी कर दी थी कि सरकार यही फैसला कर सकती है। मंत्रिमंडल ने इस खबर पर ठप्पा लगा दिया। बैठक में स्कूल खोलने को ले के कोई मतभेद नहीं रहे। CM त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने राय दी कि पहाड़ों में सोशल डिस्टेन्सिंग के साथ स्कूल खोलने में हर्ज नहीं दिख रहा।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत और शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत इस हक में थे कि स्कूल खोले तो जाएँ लेकिन स्कूली बच्चों के लिए कोरोना के जोखिम को देखते हुए कम से कम कक्षाएँ चलाने पर कोई रास्ता निकाला जाए। शुरू में सरकार की राय 9वीं से ले के 12वीं तक की कक्षाएँ चलाने की थी। केंद्र सरकार ने पहले चरण में इनको शुरू करने की मंजूरी दी भी है। इसके पीछे बोर्ड परीक्षाओं के लिए पढ़ाई संबंधी बेहतर तैयारी को ध्यान में रखा गया था। फिर सरकार के पास ये सुझाव भी आए कि बोर्ड परीक्षाओं को ही ध्यान में रखा जाना है तो फिर सिर्फ 12वीं और 10वीं की कक्षाओं को ही क्यों न स्कूल में चलाया जाए।

शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम

इसको ध्यान में रख के ही शिक्षा मंत्रालय ने प्रस्ताव तैयार किया। इस प्रस्ताव को सचिवालय में हुई मंत्रिमण्डल बैठक में पेश किया गया। सभी मंत्रियों की राय यही रही कि स्कूल खोले जाने चाहिए। भले सिर्फ बोर्ड कक्षाओं के लिए। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि पहाड़ों में बच्चे मैदानों में खेल रहे हैं। जब इससे कोरोना नहीं फ़ेल रहा तो सोशल डिस्टेन्सिंग और भारत सरकार की SoP (Standard Operating Procedure) के साथ स्कूल भी खोले जा सकते हैं।

News space ने स्कूल खुलने की तारीख का खुलासा 9 अक्टूबर को ही कर दिया था।

शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने `News Space’ से कहा, `स्कूल खोलने के बारे में पेश प्रस्ताव में दो ही विकल्प थे। 1-9वीं से 12वीं तक की कक्षाएँ खोली जाएँ। 2-सिर्फ 10वीं-12वीं की कक्षाएँ खोली जाएँ। मंत्रिमंडल ने दूसरे विकल्प को स्वीकार किया’। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय की राय है कि स्कूल खोलने से पहले उनके साथ भी परामर्श किया जाए। भारत सरकार की दो SoP है। एक गृह मंत्रालय की और दूसरी शिक्षा मंत्रालय की। अपनी SoP अबनाते समय उनका भी अध्ययन किया जाएगा।

UP सरकार ने भी अपनी विस्तृत गाइड लाइंस इस बारे में जारी की है। मीनाक्षी ने कहा कि उसको भी देखा जाएगा। शुक्रवार को स्कूल खोलने की Guide Lines तैयार करने के लिए बैठक होगी। इसमें स्वास्थ्य और आपदा प्रबंधन भी शरीक होंगे। शिक्षा सचिव ने कहा कि सरकार अभी छोटी और 10वीं-12वीं कक्षाओं के अलावा बाकी कक्षाओं को खोलने के बारे में फिलहाल सोच भी नहीं रही है। इसका मतलब वे ऑनलाइन ही पढ़ाई करेंगे। ये जरूर है कि बोर्ड कक्षाओं के छात्र चाहेंगे तो वे ऑनलाइन भी पढ़ सकते हैं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

You cannot copy content of this page