Home उत्तराखंड कार्मिकों की Salary कटौती खत्म:CM-Speaker-मंत्री-MLA-नौकरशाहों को राहत नहीं::अच्छा कदम

कार्मिकों की Salary कटौती खत्म:CM-Speaker-मंत्री-MLA-नौकरशाहों को राहत नहीं::अच्छा कदम

0
10

त्यौहारी मौसम में त्रिवेन्द्र का तोहफा:कार्मिकों में खुशी

Chetan Gurung

मँझोले और मध्यम दर्जे के सरकारी अफसरों व कार्मिकों की एक दिन की तनख्वाह कटौती का मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को कैबिनेट में प्रस्ताव ला के खात्मा कर डाला। इससे भी ज्यादा अहम और चौंकाने वाला फैसला ये किया कि खुद की-मंत्रियों-विधानसभा अध्यक्ष-विधायकों-IAS-IPS-IFS अफसरों की तनख्वाह कटौती को बरकरार रखा।

CM त्रिवेन्द्र सिंह रावत:अफसरों-कर्मचारियों को अनकट सेलरी का त्योहारी तोहफा

कोविड के कहर के मौसम में केंद्र सरकार ने हर महीने एक दिन का वेतन काटने का फैसला किया तो त्रिवेन्द्र सरकार भी उसकी राह चल पड़ी थी। इसके चलते सरकार को कार्मिकों के साथ ही बड़े नौकरशाहों की भी अंदरखाने उत्पन्न असंतोष को झेलना पड़ रहा था। केंद्र सरकार ने अपने फैसले में कोई बदलाव नहीं किया है। इसके बावजूद केंद्र के पीछे चलती रहने वाली उत्तराखंड सरकार ने कार्मिकों को खुश कर दिया।

ये सरकार की तरफ से कार्मिकों को त्यौहारों के मौसम में मिला तोहफा कहा जा सकता है। हालांकि सरकार ने फैसला किया था कि ये कटौती अगले साल तक जारी रहेगी। अब सरकार पर ये नजर भी रहेगी कि क्या वह DA पर लगी रोक भी पहले ही हटा के एक और तोहफा कार्मिकों को देना चाहेगी? इस रोक के कारण हर अफसर-कर्मचारी को लाखों नहीं तो कम से कम एक लाख का नुक्सान वेतन में होना तय है।

त्रिवेन्द्र मंत्रिमंडल का वेतन कटौती अचानक खत्म करना बड़ा फैसला रहा। CM-स्पीकर-मंत्री-विधायकों के साथ ही ऑल इंडिया सर्विस (IAS-IPS-IFoS) से जुड़े अफसरों की वेतन कटौती को बरकरार रख के मुख्यमंत्री ने एक और बड़ा तथा अहम फैसला किया। सरकार के इस फैसले की तारीफ की जा रही है। कार्मिक बहुत खुश नजर आ रहे हैं। सरकार के इस फैसले को कार्मिकों का दिल जीतने और लोगों में खुद के प्रति विश्वास बढ़ाने की कोशिश का हिस्सा समझा जा रहा है।  

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

You cannot copy content of this page