DM’s पर त्रिवेन्द्र की हिदायतों की बारिश:LED लाइट `हब’ का विकास करें

Chetan Gurung

बिजली की चोरी पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आज सख्ती के साथ अंकुश लगाने और चोरों पर कठोर कार्रवाई करने की हिदायत दी। इसके लिए सभी प्रदेश में सघन कार्रवाई अभियान चलाने-बिजली महकमे के जिम्मेदारों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए।

सभी DM’s के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान त्रिवेन्द्र ने विद्युत लाईनों की वजह से होने वाले हादसों को रोकने के लिए ठोस योजना बनाने के निर्देश भी दिए। इसके लिए उन्होंने विद्युत लाईनों की नियमित जांच, आवश्यकतानुसार अंडर ग्राउण्ड केबलिंग की व्यवस्था अपनाने पर बल दिया। ये भी कहा की विद्युत लाईनों की वजह से होने वाली दुर्घटनाओं पर निर्धारित मानकों के मुताबिक क्षतिपूर्ति एक सप्ताह के अन्दर दिया जाना सुनिश्चित हो। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 

मुख्यमंत्री ने ये भी सुनिश्चित करने को कहा कि दुर्घटना के कारणों की जांच रिपोर्ट सबंधित क्षेत्र के विद्युत विभाग के अधिकारियों से शीघ्र उपलब्ध हो। बिजली के बिल की रसीद लोगों तक नियमित रूप से पहुँचने की हिदायत भी दी।ये भी निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना, सौर ऊर्जा व पिरूल ऊर्जा नीति से लोगों के रोजगार के अवसर बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया जाए। जिलाधिकारियों को सरकार की अहम योजनाओं को सफल बनाने के लिए डट के ज़िम्मेदारी का निर्वहन करना होगा।

सीएम ने कहा कि एलईडी ग्राम लाईट योजना के तहत जिन स्थानों पर प्रोडक्शन का कार्य शुरू हो चुका है वहाँ जा के सीडीओ एवं सबंधित विभागीय अधिकारी महिला स्वयं सहायता समूहों से मिलें। उनकी समस्याओं को दूर करें। उन्होंने कहा कि इसके लिए राज्य में कुछ क्षेत्र हब के रूप में विकसित करने होंगे। स्थानीय स्तर पर लोगों की आय में वृद्धि के लिए सुनियोजित तरीके से कार्य करने होंगे। त्योहारों के सीजन के दृष्टिगत स्थानीय स्तर पर बनाये गये उपकरणों की मार्केंटिंग के लिए भी स्वयं सहायता समूहों को सहयोग दिया जाए।

त्रिवेन्द्र ने ये भी कहा कि पिरूल नीति से 40 हजार से अधिक लोगों के आय के संसाधन बढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है। इस नीति के सफल क्रियान्वयन के लिए जिलाधिकारी विशेष ध्यान दें। सचिव (ऊर्जा) राधिका झा ने कहा कि विभागों को की-परफार्मेंस इंडिकेटर दिए जाने से उर्जा के क्षेत्र में तेजी से प्रगति हुई है। विद्युत उत्पादन में वृद्धि हुई है।

राधिका के अनुसार यूजेवीएनएल, यूपीसीएल, पिटकुल एवं उरेडा निर्धारित लक्ष्यों के हिसाब से अच्छा कार्य कर रहे हैं। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत उपलब्धता की स्थिति बहुत अच्छी हुई है। एमडी (यूपीसीएल) नीरज खैरवाल, अपर सचिव कैप्टन आलोक शेखर तिवारी भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here