Home उत्तराखंड कोरोना से मिल के करें जंग:घरों-धार्मिक-पर्यटन स्थलों पर जागरूकता स्टिकर लगाएँ:CM

कोरोना से मिल के करें जंग:घरों-धार्मिक-पर्यटन स्थलों पर जागरूकता स्टिकर लगाएँ:CM

0
14

कोविड का ईलाज कर रहे नीम हकीमों पर होगी कार्रवाई:घर बैठे मिलेगी Covid रिपोर्ट  

Chetan Gurung

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि कोविड के खिलाफ मिल के जंग लड़ने पर ही फतह हासिल होगी। जागरूकता अभियान चलाना होगा। इसके लिए जनप्रतिनिधियों-सामाजिक संगठनों और एनजीओ का सहयोग लिया जाए। जो नीम हकीम कोविड का ईलाज करने का ढोंग कर रहे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो।

सचिवालय में हुई बैठक में DM’s को हिदायत देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हर घर-धार्मिक और पर्यटन स्थलों पर कोरोना जागरूकता स्टिकर लगाए जाएँ। कोरोना से लड़ाई में और अधिक सतर्क होना इसलिए भी जरूरी है कि पर्यटन की गतिविधियों में तेजी आई है। त्योहारों का सीजन भी शुरू होने वाला है।

बैठक में ये भी फरमान जारी किया गया कि बिना मास्क पहले निकले लोगों का चालान करने के साथ ही उनको मास्क उपलब्ध भी कराए जाएँ। सीनियर डॉक्टरों की भी रिपोर्ट ली जाए कि वे रोजाना कितने मरीजों का और कितनी बार चेक अप कर रहे हैं। पुलिस फोर्स, होमगार्ड, पीआरडी की भी समुचित व्यवस्था की जाए। पर्यटक स्थलों पर फोर्स की पर्याप्त संख्या हों। 

मुख्यमंत्री ने कोरोना जांच परिणाम के लिए ऑनलाईन पोर्टल का शुभारम्भ भी किया। टेस्ट कराने वाले व्यक्ति को रिपोर्ट के लिए सिर्फ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विभाग, उत्तराखण्ड के कोविड मैनेजमेंट पोर्टल http//covid19.uk.gov.in पर जाकर टेस्ट के समय प्राप्त SRFID एवं रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर फीड करना होगा।

मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि अगर कोई मामला ऐसा आता है कि अनाधिकृत डॉक्टर मरीजों को दवा दे रहे हैं तो उन पर सख्त कारवाई की जाए। ट्रू-नॉट टेस्टिंग बढ़ाई जाए। 

सचिव (स्वास्थ्य) अमित नेगी ने कहा कि हर जिले के कोविड कन्ट्रोल रूम मैनेजमेंट पर विशेष ध्यान दिया जाए। लोगों की विभिन्न समस्याओं से संबंधित जो भी कॉल प्राप्त हो रही हैं, उनका शीघ्र समाधान होना चाहिए। होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को स्वास्थ्य किट शीघ्र उपलब्ध कराएं।

नेगी ने कोविड केयर सेंटरों में स्वच्छता, सेनिटाईजेशन, खान-पान एवं स्वास्थ्य की दृष्टि से सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुचारू रखने पर भी ज़ोर दिया। सैंपल अधिक लंबित न रहने देने और एंटीजन टेस्ट में सिम्पटमैटिक को आरटी-पीसीआर टेस्ट जरूर कराने के निर्देश भी दिए।

अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, डीजीएलओ अशोक कुमार, सचिव आरके सुधांशु, नितेश झा, एसए मुरूगेशन, आईजी संजय गुन्ज्याल, महानिदेशक सूचना मेहरबान सिंह बिष्ट, वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से सभी जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एवं सीएमओ उपस्थित थे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

You cannot copy content of this page