स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी का दावा-राज्य के हर जिले का रेकॉर्ड राष्ट्रीय रेकॉर्ड से बेहतर

सिर्फ सरकार की कोशिशों को वजह मानने का श्रेय लेने से किया इनकार

आज 505 केस मिले:ठहर नहीं रहा मौतों का सिलसिला:फिर 14 ने दम तोड़े

Chetan Gurung

त्रिवेन्द्र सिंह रावत सरकार क्या वाकई कोरोना को काबू करने में कमाल कर रही?

उत्तराखंड में आज 505 कोरोना पॉज़िटिव केस आए जो बहुत अधिक नहीं माने जा रहे लेकिन मौतों का सिलसिला ठहर नहीं रहा। आज फिर 14 कोरोना मरीजों की मृत्यु हो गई। इस बीच स्वास्थ्य सचिव अमित सिंह नेगी ने दावा किया कि कोरोना नियंत्रण में राज्य का प्रदर्शन बहुत बेहतर हुआ है। यहाँ के हर जिले का औसत प्रदर्शन राष्ट्रीय औसत से कहीं बेहतर है।

सचिव नेगी ने ये श्रेय लेने से हालांकि ये कहते हुए इनकार किया कि सिर्फ सरकार की कोशिशों के कारण उत्तराखंड का प्रदर्शन बहुत अच्छा हुआ। उन्होंने कहा-`कोई भी वैज्ञानिक पहलू सामने नहीं आया है जो साफ करे कि आखिर कोरोना क्यों और कैसे फैल रहा और कैसे अचानक काबू में दिखाई देता है। हालांकि सरकार की तरफ से महामारी को काबू में करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही हैं’।

नेगी ने इस बात से भी इनकार किया कि टेस्टिंग कम हो रही है। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग बहुत ज्यादा बढ़ा दी गई हैं। राज्य में इस वक्त 59106 केस हैं। आज देहरादून में सबसे ज्यादा 140 केस मिले। 16434 केसों के साथ वह सबसे आगे है। प्रदेश में कोरोना रिकवरी रेट 90 फीसदी के करीब पहुँच गया है। एक्टिव केस राज्य भर में 5085 रह गए हैं। मौतें भी 960 हो चुकी हैं। धीरे-धीरे ये एक हजार के आंकड़े को छूने की ओर है। 14432 नमूने लैब में नतीजों के लिए इंतजार कर रहे हैं।

Secretary (Health) Amit Singh Negi

बुधवार को भी जिन मरीजों की सांस हमेशा के लिए कोरोना के चलते उखड़ गई, उनमें से 3 को छोड़ बाकी 11 की उम्र 50 साल से अधिक थीं। AIIMS ऋषिकेश और सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में 4-4, बेस अस्पताल श्रीनगर में 3, हिमालयन इंस्टीट्यूट अस्पताल देहरादून में 2 और जिला अस्पताल चमोली में 1 मरीज ने दम तोड़ा।    

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here