पौड़ी-रुद्रप्रयाग-अल्मोड़ा में बड़ी तादाद में मिले पॉज़िटिव केस

Chetan Gurung   

देहरादून समेत मैदानी जिलों को खूनी पंजों से जबर्दस्त ढंग से जख्मी करने के बाद Covid-19 महामारी ने पहाड़ों में सितम धाना शुरू कर दिया है। आज 480 पॉज़िटिव केस राज्य भर में मिले। 9 कोरोना मरीजों ने देह का त्याग कर दिया।

शुरुआती दिनों में कोरोना का खौफ मैदानी जिलों में था। पहाड़ों को लोग सुरक्षित मान रहे थे। इसके चलते और शहरों में नौकरियाँ चली जाने के कारण भी लोग पहाड़ों में अपने मूल घर लौट आए। ऐसा लग रहा है कि अब वापिस आ रहे लोग कोरोना के बड़े संवाहक बने हुए हैं। मैदानी जिलों की तुलना में पहाड़ी जिलों में अधिक कोरोना केस मिलने शुरू होना इसकी मिसाल है।

पौड़ी (118)-रुद्रप्रयाग (73) और अल्मोड़ा (41) में इतने अधिक केसों का मिलना साबित करने के लिए काफी है कि बाहरी लोगों के लिए जिलों की सीमाएं खोल देने का फैसला सरकार-अवाम के लिए भारी पड़ने वाला है। पौड़ी पहली बार कोरोना केसों के मामले में नंबर-1 रही। हरिद्वार (25) उधम सिंह नगर (10) और राजधानी (84) को भी उसने कहीं पीछे छोड़  दिया। बागेश्वर-चमोली-टिहरी (19-19 केस) में भी इतने केसों का मिलना खतरे की घंटी है।

देहरादून में 5 कोरोना मरीजों की मौतें हुईं। 2-2 मरीजों ने AIIMS-महंत इंद्रेश मेडिकल कॉलेज अस्पताल में और 1 ने कैलाश अस्पताल में दम तोड़ दिया। 2 ने सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में आखिरी सांस ली। 3680 एक्टिव केस अभी बचे हैं। राज्य में 64065 केस अब तक हो चुके हैं। 58823 केस ठीक हो चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here