उत्तराखंड मेरी जन्मभूमि:बोले यूपी के CM:आदित्यनाथ की अगुवाई में उत्तम प्रदेश बनेगा यूपी:त्रिवेन्द्र  

Chetan Gurung

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बर्फबारी थमने के बाद आज बदरीनाथ धाम पहुँच के दर्शन एवं पूजा-अर्चना की। दोनों मुख्यमंत्रियों ने मंदिर के गर्भ गृह में भगवान विष्णु की अराधना की। दोनों राज्य वासियों एवं सभी देशवासियों की सुख-समृद्धि एवं मंगलमय जीवन की कामना की। योगी को देहरादून के जौली ग्रांट हवाई अड्डे पर विदा करने से पहले त्रिवेन्द्र ने केदारनाथ धाम की अनुकृति भेंट की तथा शाल ओढ़ाया। केदारनाथ धाम के दर्शन के बाद भारी बर्फबारी के कारण दोनों मुख्यमंत्री तत्काल बदरीनाथ धाम नहीं पहुँच पाए थे। मौसम साफ होने के बाद उनकी मनोकामना पूरी हो पाई। दोनों मुख्यमंत्रियों ने इतना वक्त एक साथ पहले कभी नहीं गुजारा था।

योगी आदित्यनाथ और त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बद्रीनाथ धाम के सामने सभी के साथ फोटो खिंचवाई

योगी और त्रिवेन्द्र ने बदरीनाथ में उत्तर प्रदेश के पर्यटक आवास गृह का भूमि पूजन एवं शिलान्यास किया। दोनों मुख्यमंत्री भारत के अन्तिम गांव माणा भी पहुंचे। भीम पुल एवं सरस्वती पुल का भ्रमण भी किया। आईटीबीपी, सेना एवं बीआरओ के जवानों से मिलके उनका हौसला बढ़ाया। त्रिवेन्द्र ने बदरीनाथ में बर्फ के कारण यातायात एवं अन्य व्यवस्था सुचारू रखने के लिए चमोली को 1 करोड़ रूपये देने की घोषणा की। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि आज मुझे कई वर्षों के बाद भगवान बद्री-विशाल के दर्शन करने का सौभाग्य मिला। उत्तराखण्ड के चारों धाम पर्यटन विकास एवं श्रद्धालुओं की श्रद्धा व आस्था के सम्मान को ध्यान में रखते हुए विकास की नई ऊंचाईयों को छूते हुए दिखाई दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र के नेतृत्व में उत्तराखण्ड सरकार के सभी कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड और उत्तर प्रदेश के बीच पिछले 18-20 वर्षों से बहुत से विवाद चले आ रहे थे। उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने अपने रचनात्मक और सकारात्मक पहल से इन सभी समस्याओं का समाधान करने में सफलता प्राप्त की। दोनों राज्यों की सरकारों ने आपसी सहमति से तय किया कि अलकनन्दा होटल उत्तराखण्ड सरकार को सौंपेगे। उत्तर प्रदेश सरकार उसी के बगल में एक नया भागीरथी पर्यटन आवास गृह बनायेगी।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तराखण्ड मेरी जन्म भूमि भी है। मैंने अपना बचपन उत्तराखण्ड में ही बिताया। पिछले तीन दिनों से यहां के तीर्थ स्थलों के दर्शन करने करने का सौभाग्य मिला। योगराज सुन्दरनाथ की तपस्थली-गुफा भी यहीं है। उत्तराखण्ड सरकार उनकी गुफा का पुनरूद्धार करे तो बहुत अच्छा कार्य होगा।  मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पिछले तीन दिनों से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के साथ केदारनाथ एवं बदरीनाथ के दर्शन का अवसर मिला। यह एक बड़ी उपलब्धि है। योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश जैसा विशाल राज्य आज विकास के पथ पर तेजी से अग्रसर है। उनके नेतृत्व में उत्तर प्रदेश एक उत्तम प्रदेश बने इसके लिए कामना करता हूं। 

दोनों मुख्यमंत्रियों का बदरीनाथ के बाद देवस्थानम बोर्ड के अधिकारियों ने स्वागत किया।   इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, उत्तर प्रदेश के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अविनाश अवस्थी, जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया, एसपी चमोली यशवंत सिंह चौहान भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here