Chetan Gurung

Covid-19 के खतरे को देखते हुए इस साल HNB गढ़वाल विवि का आठवाँ दीक्षांत समारोह (1 दिसंबर 20) ऑनलाइन होगा। विश्वविद्यालय के कुछ अधिकारी ही विश्वविद्यालय के सभागार में इस दौरान मौजूद रहेंगे। भारतीय सैन्य अकादमी (IMA) की तरह विवि प्रशासन ने भी समारोह का लाइव प्रसारण सोशल मीडिया (फेसबुक, यूट्यूब, ट्विटर, विश्वविद्यालय वेवसाइट  ) तथा दूरदर्शन पर करने का फैसला किया है। इस वर्ष विभिन्न विषयों के लगभग  60 विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक से सम्मानित किया जाएगा।

गढ़वाल विश्वविद्यालय श्रीनगर गढ़वाल की दीक्षांत समारोह आयोजन समिति की बैठक में समारोह की रूप रेखा तय हुई। अहम फैसले किए गए। दीक्षांत समारोह 2020  “ऑनलाइन शिक्षण एवं प्रतिस्कन्दन(Online education and resilience) विषय (theme) पर  केंद्रित होगा। कोविड से बाधाओं के बावजूद विवि ने शैक्षणिक गतिविधियां ऑनलाइन माध्यमों से जारी रखी थी।

अनेक राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रमों का प्रतिनिधित्व करके इस असहज समय की चुनौती का सफलता के साथ सामना किया। कोविड-19 के दौर में  मानव संसाधन विकास मंत्रालय एवं विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की तरफ से “संविधान दिवस” की 70वीं  वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रमों की श्रृंखला में गढ़वाल  विश्वविद्यालय देश के सभी विश्वविद्यालयों में पहले पायदान पर रहा। दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डॉ. योगेन्द्र नारायण करेंगे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष प्रोफेसर डीपी सिंह रहेंगे।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ मुख्य अतिथि होंगे। कार्यक्रम का आयोजन विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर अन्नपूर्णा नौटियाल के निर्देशन में होगा। विज़िटर की तरफ से नामित सदस्य, विश्वविद्यालय कार्य परिषद् के सदस्य, विभिन्न स्कूलों के डीन, कुलसचिव एवं क्षेत्र के  प्रतिनिधि इसमें शरीक होंगे।

छात्र-छात्राएं (जिन्होंने शैक्षणिक सत्र 2019-20 में अपना स्नातकोत्तर अथवा एम फिल उत्तीर्ण किया हो या 15 नवम्बर 2019 के पश्चात् पीएचडी हासिल की हो) दीक्षांत समारोह में भाग ले सकते हैं।  दीक्षांत समारोह में ऑनलाइन प्रतिभाग करने के लिए उनको विश्वविद्यालय के पोर्टल online.hnb.ac.in पर एक हजार रुपये के शुल्क के साथ  पंजीकरण करना होगा। पंजीकरण 22 नवम्बर 2020 तक हो सकेंगे।

ऑनलाइन दीक्षांत समारोह के लिए इच्छुक विद्यार्थियों को पंजीकरण के पश्चात पूर्वाभ्यास कार्यक्रम में प्रतिभाग करना अनिवार्य होगा।  बैठक में दीक्षांत समारोह आयोजन समिति के संयोजक प्रो आरसी रमोला, प्रो वाईपी रैवानी, प्रो इंदु खण्डूरी, प्रो एमएम सेमवाल, डॉ विजय कुमार ज्योति, आशुतोष बहुगुणा,  मोहन नैथानी, डॉ सुभाष चन्द्र, डॉ जितेंद्र कुमार मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here