Graphic Era सिद्धान्त:कामयाब पेशेवर-बेहतरीन इंसान बनें:डॉ.घनशाला

0
147

विवि के छात्र-छात्राओं ने सुभाषचंद्र बोस जयंती पर किया 236 यूनिट रक्तदान

Chetan Gurung

कुलपति डॉ.संजय जसोला रक्तदान करते हुए

ग्राफिक एरा विवि कामयाब पेशेवर तैयार करने में सुर्खियां बटोर रहा लेकिन आज इसके छात्र-छात्राओं-शिक्षकों ने रक्तदान शिविर में 236 Unit खून दे के जरूरतमंदों की जिंदगी बचाने का मानवीय जज्बा भी दिखाया। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर आयोजित शिविर का फीता काट के उद्घाटन करने के बाद विवि समूह के अध्यक्ष डॉ. कमल घनशाला ने कहा कि उनके विवि का सिद्धान्त सिर्फ सफल पेशेवरों की फौज खड़ी करना नहीं है। यहाँ से निकलते समय वे एक बेहतरीन इंसाफ के तौर पर दुनिया के सामने हों, ये कोशिश भी शिक्षा का अंग रहता है।  

रक्तदान में छात्राओं ने खूब उत्साह दिखाया

डॉ.घनशाला ने कहा कि सरोकारों से जुड़ाव और दूसरे के दुख-दर्द आपस में बांटने का यह जज्बा विवि के युवाओं को एक गौरवशाली पहचान देता है। ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी और ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी में आयोजित रक्तदान शिविरों में छात्राओं संग शिक्षकों व स्टाफ की उत्साहजनक भागीदारी विशेष रही। यूनिवर्सिटी के केपी नौटियाल ब्लॉक में डॉ.घनशाला ने उच्च शिक्षा उप निदेशक डॉ आनंद सिंह के साथ शिविर का उद्घाटन किया।

उन्होंने कहा कि नई खोजों, बेहतरीन प्लेसमेंट और दुनिया की नई टेक्नोलॉजी पर आधारित उच्च गुणवत्ता युक्त शिक्षा के साथ ही छात्र-छात्राओं में नेतृत्व क्षमता का विकास और उन्हें मानवीय मूल्यों से जोड़ना ग्राफिक एरा की पहचान बन गया है। ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ राकेश कुमार शर्मा ने कोरोना काल में विश्वविद्यालय की ओर से लोगों को संक्रमण से बचाने और किसी को भूखा न रहने देने के लिए चलाए गए अभियान का उल्लेख किया। उन्होंनेकहा कि शिक्षा युवाओं को दुनिया की आवश्यकताओं से जोड़ती है।

डॉ. आनंद सिंह उनियाल ने ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी में रक्तदान शिविर का उद्घाटन किया। डॉ. उनियाल ने रक्तदान से होने वाले फायदों का उल्लेख किया। अच्छे स्वास्थ्य के लिए रक्तदान को बहुत आवश्यक बताया। उन्होंने कहा कि रक्तदान से शरीर में ताजा खून बनता रहता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी में 125 छात्र-छात्राओं, शिक्षकों और स्टाफ ने रक्तदान किया।

यह रक्त दुर्घटनाओं में घायल लोगों और जरूरतमंद रोगियों को मदद के लिए महंत इंद्रेश अस्पताल के ब्लड बैंक को दिया गया। ग्राफिक एरा हिल यूनवर्सिटी में 111 यूनिट रक्तदान किया गया। हिल यूनिवर्सिटी में आईएमए ब्लड बैंक ने रक्त लिया। इस विश्वविद्यालय में सबसे पहले कुलपति डॉ संजय जसोला ने रक्तदान किया। छात्राओं ने काफी संख्या में रक्तदान किया। इस अवसर पर डीम्ड यूनिवर्सिटी के चांसलर डॉ.आरसी जोशी, ग्राफिक एरा एलुमिनाई एसोसिएशन के डॉ. राजेश पोखरियाल, डॉ सचिन घई, अनिल देसाई, मयंक नौटियाल समेत तमाम पदाधिकारी भी शिविर में पहुंचे।

ग्राफिक एरा के कई लोग 30 या इससे अधिक बार खून दे चुके हैं। असिस्टेंट रजिस्ट्रार अनिल चौहान ने आज 32वीं बार रक्तदान किया। शिक्षक डॉ.एमपी सिंह ने 30वीं बार, डॉ. राजेश पोखरियाल ने 25वीं बार, कार्तिकेय रैन और आदित्य हरबोला ने 21 वीं बार रक्तदान किया। शिक्षिका आकृति ढौंढियाल और सुहेल विज ने 14वीं बार रक्तदान किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here