बधाई::Himalayan Hospital-जौलीग्रांट:अटल आयुष्मान में सर्वश्रेष्ठ

0
176

VC-विजय धस्माना को CM ने दिया Award:2020 में 26 हजार का आयुष्मान योजना में ईलाज

देश का इकलौता ‘आयुष्मान गोल्ड क्वालिटी’ सर्टिफाइड हॉस्पिटल

Chetan Gurung

Himalayan Hospital जौली ग्रांट गुजरे साल (2020) आयुष्मान योजना में रोगियों को श्रेष्ठ और सबसे ज्यादा ईलाज मुहैया करने में नंबर-1 रहा। हिमालयन अस्पताल के कुलपति डॉ. विजय धस्माना को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को समारोह में उत्कृष्ट सेवा सम्मान प्रदान किया।

उत्तराखंड राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री रावत ने कुलपति डॉ. धस्माना को Award देने के दौरान उनके निजी प्रयास और अस्पताल के बेहतरीन योगदान की तारीफ की। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट काल में हिमालयन अस्पताल ने रोगियों को गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सेवा देने में शानदार भूमिका निभाई। इस अस्पताल की उत्कृष्ट सेवा का फायदा पड़ोसी राज्यों को भी मिल रहा है। आयुष्मान योजना के तहत रोगियों को निशुल्क उपचार देने में हिमालयन हॉस्पिटल ने रेकॉर्ड कायम करने में सफलता पाई।

डॉ.विजय ने भी इस मौके पर कहा कि आयुष्मान योजना साल-2018 के आखिर में लागू हुई। इस दौरान करीब चार हजार से ज्यादा रोगियों का उपचार किया गया। दूसरे वर्ष 2019 में करीब 25 हजार जबकि तीसरे वर्ष 26 हजार रोगियों ने आयुष्मान योजना में मुफ्त ईलाज की सुविधा का लाभ उठाया। 2021 के जनवरी में अभी तक करीब 1900 रोगियों का मुफ्त ईलाज हो चुका है। इस योजना में हिमालयन अस्पताल देश भर में शीर्ष पर रहा। अब तक 57000 से ज्यादा रोगियों का उपचार इस योजना में हो चुका है।

भारत सरकार ने हिमालयन अस्पताल को ‘आयुष्मान गोल्ड सर्टिफिकेशन’ का दर्जा दिया। भारत में करीब 650 मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल हैं। इनमें से हिमालयन देश का एकमात्र टीचिंग अस्पताल है जो ‘आयुष्मान गोल्ड’ सर्टिफाइड’ है। अटल आयुष्मान योजना उत्तराखण्ड की निदेशक (एडमिनिस्ट्रेशन एवं मेडिकल क्वालिटी) डॉ.अर्चना श्रीवास्तव ने बताया की आयुष्मान योजना से संबधित अस्पतालों के लिए ब्रोंज, सिल्वर व गोल्ड की श्रेणियाँ बनाई गई हैं। गोल्ड सर्टिफिकेशन रोगियों को उच्च गुणवत्ता युक्त श्रेष्ठ उपचार प्रदान करने वाले को ही मिलता है। अवार्ड Ceremony में चिकित्सा और स्वास्थ्य सचिव अमित सिंह नेगी भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here