CaU CEO ने भी माना-कम उम्र टीम से बाहर करने का आधार नहीं हो सकता

`Newsspace’ ने प्रतिभा की अनदेखी को प्रमुखता से उठाया था

Under-19 लड़कों की टीम के चयन पर भी अंगुली:84 नामों की सूची जारी होने के बाद 102 हुई। अब 120 तक जाने की चर्चा

Chetan gurung

अपने अंगुलियों से गेंद को जबर्दस्त ढंग से नचाने-घूमने और बल्लेबाजों को पविलियन भेजने वाली 17 साल की चमत्कारिक गेंदबाज निशा मिश्रा को आखिर इंसाफ मिल गया। शनिवार को निशा के पिता विश्वास को Association से फोन आया कि आपकी बेटी को सीनियर Camp में चुन लिया गया है। पहले Newsspace में बेटी की ना-इंसाफ़ी पर आई स्टोरी से घबराए विश्वास ने शुक्रिया जताया कि उनकी बेटी को Newsspace के कारण टीम और Camp में जगह मिल पाई। कल रात CaU के CEO अमन सिंह ने Newsspace से फोन पर बातचीत में साफ ईशारा कर दिया था कि निशा को Camp में शामिल जरूर किया जाएगा।

पहले 84 नामों की सूची जारी की गई थी

निशा को कम उम्र होने के आधार पर टीम के लिए चल रहे कैंप में नहीं रखा गया था। हालांकि वह अभ्यास मैचों में Best Bowler चुनी गई थी। एक सीजन पहले वह Under-23 राष्ट्रीय प्रतियोगिता में देश में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाली गेंदबाज थी। ऋषिकेश में रहने वाली निशा के प्रशिक्षक अनिल वर्मा ने भी Newsspace का आभार प्रकट किया कि निशा को इंसाफ दिलाने में सामने आया। CEO अमन ने पूछने पर कहा था कि निशा को कम उम्र के आधार पर टीम से बाहर नहीं किया जा सकता है।

84 नामों की सूची अब 102 की हो गई।

खुद सचिन तेंदुलकर 16 साल की उम्र में भारतीय टीम में खेले थे। ये जरूर है कि Under-19 में उनके भारतीय टीम में चुने जाने की बेहतर संभावना को देखते हुए शायद चयनकर्ताओं ने सीनियर टीम में न लिया हो। आज CaU ऑफिस से किसी प्राची का फोन निशा के पिता के पास आया। उनको कहा गया कि निशा को आज ही अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी (यहाँ Camp लगा है) में भेज दिया जाए।

इन दिनों तमाम विवादों में घिरे CaU ने निशा को टीम में शामिल कर कम से कम एक बड़ी गलती सुधार ली। साथ ही इस मुद्दे को भी बड़ा विवाद बनने से थाम लिया। अब कैंप में प्रदर्शन के आधार पर टीम चुनी जाएगी। CaU हालांकि अब Under-19 लड़कों की टीम के कैंप में चयन को ले के भी विवादों में घिर गया है। CEO के दस्तखत से पहले 84 खिलाड़ियों के नामों की सूची जारी हुई। इसमें 13 साल का समर्थ सेमवाल भी है, जो अभ्यास मैच खेले बिना ही कैंप में चुन लिया गया।      

हैरानी की बात ये है कि CEO की सूची के बाद एक और सूची जारी कर दी गई। इसमें नामों को बढ़ा के 102 कर दिया गया। Newsspace के पास ये सूची है। सूत्रों के मुताबिक इस सूची को भी और लंबा कर अब्ब120 कर दिया गया है। इस बारे में पूछे जाने पर CEO ने कहा, BCCI के कुछ नियमों और फैसलों की संभावना के मद्देनजर सूची लंबी की गई है। अमन की इस सफाई के बावजूद क्रिकेट जगत में फिर नया हल्ला ये उठा हुआ है कि टीम चयन में जम के मनमानी चल रही है। जिसका सिक्का चल रहा, उसका नाम आ रहा है।

CaU पर लगाए जा रहे इस आरोप पर इसलिए भी यकीन किया जा रहा है कि खुद उत्तराखंड के Senior टीम के Head Coach से इस्तीफा देने के बाद पूर्व भारतीय ओपनर वासिम जाफ़र आरोप लगा चुके हैं कि खिलाड़ियों के चयन को ले के सचिव माहिम वर्मा उन पर नाजायज दबाव डालने की कोशिश करते थे। संभावना जताई जा रही है कि अंडर-19 टीम चयन को ले के भी बवाल जरूर होगा। Newsspace बहुत पहले ये खुलासा कर चुका था कि टीम चयन में खूब खेल हो रहे हैं। जाफ़र ने स्टोरी पर मुहर लगा दी।   

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here