अभिमन्यु एकेडमी में कैंप के उद्घाटन पर विकेट पर ही नारियल फोड़े गए-पूजा की गई

CAU की आधिकारिक वेब साइट पर हैं तस्वीरें:अध्यक्ष गुनसोला कब खोलेंगे मुंह?

Chetan Gurung

येडा बन के पेड़ा खाना:सीएयू अध्यक्ष जोत सिंह गुनसोला

क्रिकेट मैदान पर नमाज और मौलवी बुलाने ( भले मैच के बाद) को ले के Cricket Association of Uttarakhand के सचिव माहिम वर्मा ने इस्तीफा दे चुके Head Coach और पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वासिम जाफ़र पर सांप्रदायिक होने तक का आरोप जड़ दिया लेकिन धर्म से जुड़ा एक और मामला सामने आया है। देहरादून में ही क्रिकेट की पिच पर नारियल भी फोड़े गए। विधिवत पूजा-पाठ किया गया। जो भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कभी नहीं हुआ। इसकी तस्वीरें बाकायदा एसोसिएशन की आधिकारिक Web Site पर उपलब्ध हैं। इस तस्वीर के सामने आने से CAU के ओहदेदारों के लिए जवाब दे पाना मुश्किल हो गया है।

ये सफाई दे पाना सीएयू के लिए कठिन हो गया है कि अगर मौलवी को बुलाना और नमाज पढ़ना सांप्रदायिकता को बढ़ावा देना है तो फिर मैदान पर पूजा-पाठ को कैसे मंजूरी दी जा सकती है। ये मंजूरी किसने दी और नहीं दी गई तो किसने बिना मंजूरी के इसको अंजाम दिया। 18 अक्टूबर 2020 को सीनियर लड़कों की टीम के उद्घाटन के मौके पर पिच पर ही नारियल फोड़ा गया था। साथ ही पारंपरिक ढंग से पूजा पाठ भी किया गया।

सीएयू ने इसके तस्वीरों को अपनी साइट में अपलोड कर के ये साफ कर दिया कि वह क्रिकेट में धर्म के प्रवेश को गलत नहीं मानता। ऐसे में उसके सचिव का मौलवी बुलाने और नमाज पढ़ने पर शिकायत को दोहरे मापदंड के तौर पर देखा जा रहा है। ICC और BCCI कभी भी क्रिकेट को धर्म के नजरिए से नहीं देखती है। ऐसे में सीएयू और उसके ओहदेदारों का मैदान पर ही खेल के दौरान ये सब किया जाना आपत्तिजनक माना जा रहा है।

ये भी संभव है कि ये तस्वीरें सामने आने के बाद बोर्ड भी सीएयू के खिलाफ कुछ कार्रवाई करे या फिर सफाई तलब करे। तस्वीरों में कैप्शन भी लिखा है। इसमें बताया गया है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सीनियर टीम के कैंप की शुरुआत की गई है। ये कैंप अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी में 1 महीने का लगाया गया था। इस बीच Apex Council सदस्यों ने CAU अध्यक्ष जोत सिंह गुनसोला को मेल कर के ताजा बवालों पर तत्काल काउंसिल की आपात बैठक बुलाने की मांग की है। मांग करने वालों में सीएयू उपाध्यक्ष संजय रावत और कोषाध्यक्ष पृथ्वी सिंह नेगी भी शामिल हैं।  

संजय ने लिखा है कि अगर टीम मैनेजर (नवनीत मिश्रा) को सब पता था तो उसने क्यों Apex Council को रिपोर्ट नहीं दी। पृथ्वी ने मेल में संजय के मेल का हवाला देते हुए तत्काल आपात बैठक बुलाने पर बल दिया है। एक अन्य मेल में माहिम पर आरोप लगाया गया है कि Head Coach वासिम जाफ़र के इस्तीफे को काउंसिल ने अस्वीकार कर दिया था। माहिम ने कहा था कि वह जाफ़र से बात कर लेंगे। फिर क्यों मीडिया में अलग-अलग बातें सामने आ रही है। दुनिया भर के आरोपों से घिरे माहिम और अध्यक्ष गुनसोला के पास कोई जवाब नहीं है, ऐसा लग रहा है। इतने बड़े विवादों के बावजूद गुनसोला का कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here