Burning Topic::कुछ भी कहो:देश भर में सिर्फ तीरथ-तीरथ हो रहा

Related Articles

Twitter-सेंट स्टीफंस के Whats App Groups में भी गज़ब ट्रेंड कर रहे

मीम्स बन रहे-चुटकियाँ ली जा रहीं:हकीकत ये है कि CM की कुर्सी को नहीं कोई खतरा   

Chetan Gurung

उत्तराखंड के CM तीरथ सिंह रावत इस वक्त देश के उन चुनिन्दा शख़्सियतों में शामिल हैं, जो न सिर्फ twitter पर शानदार ढंग से ट्रेंड कर रहे बल्कि देश के दिग्गज कॉलेजों में शुमार सेंट स्टीफंस के उस व्हाट्सएप ग्रुप में भी छाए हुए हैं। ये वह ग्रुप है जिसमें नजीब जंग, शशि थरूर जैसे बड़े नाम शामिल हैं। तीरथ पर इन दिनों जम के मीम्स बन रहे। चुटकियाँ ली जा रहीं। किसी भी सियासी नेता के लिए ये तो वरदान ही कहा जा सकता है।

जो सुर्खियां मेन स्ट्रीम मीडिया और सोशल मीडिया में तीरथ लगातार बटोर रहे हैं, उससे कोई भी सियासी या अन्य क्षेत्र का शख्स रश्क कर सकता है। सियासी दुनिया में ये कहा जाता है, तारीफ मिले चाहे आलोचना हिस्से में आए, लेकिन मीडिया और चर्चाओं में जरूर रहना चाहिए। इससे उनके सियासी जीवन को खुराक मिलती है।

तीरथ के हक में एक बात जरूर जाती है कि उनके बयानों पर भले बवाल हो रहा। सुर्खियां बन रही हैं, लेकिन इससे उनकी कुर्सी को कोई खतरा नहीं है। तीरथ आलोचनाओं के बावजूद इसलिए शायद न फिक्र में दिखते हैं न उनके चेहरे पर कोई तनाव या दबाव ही झलकता है। वह धड़ाधड़ समारोहों-आयोजनों में शरीक हो रहे। ये बात अलग है कि जहां भी वह जुबान खोल रहे, कुछ न कुछ नई मुद्दा मीडिया और विरोधी दलों को दे दे रहे हैं।

उनका पीएम नरेंद्र मोदी को भविष्य में भगवान की तरह माने जाने, भारत पर अमेरिका का 200 साल तक राज, 20 बच्चे-2 बच्चे, फटी जींस, कुम्भ मेले में बेधड़क बिना कोरोना RT-PCR रिपोर्ट के आने के बयानों ने हिंदुस्तानी सियासी दुनिया और मीडिया की सुर्खियां बेहद जबर्दस्त ढंग से लूट ली है। वह National Channels के बेशकीमती Prime Time को मोदी-शाह-ममता-योगी तक से छीन रहे हैं। इससे पहले किस मुख्यमंत्री को देश भर में इस कदर जबर्दस्त प्रचार मिला, किसी को याद नहीं।

`Newesspace’ के पास एक सेंट स्टीफंस के एक्स छात्र ने व्हाट्स एप ग्रुप में चल रहे कुछ जोक्स-मीम्स  भेजे। ये वह ग्रुप है, जिसमें शशि थरूर, परंजय ठाकुरता, चन्दन मित्रा, स्वप्नदास गुप्ता, दिल्ली के पूर्व उपराज्यपाल नजीब जंग समेत उत्तराखंड के भी कुछ आईएएस अफसर शामिल हैं। कुछ बेहद चुटीले हैं। मसलन, `ब्रिटेन की महारानी नाराज हैं कि उत्तराखंड के सीएम ने कैसे कह दिया कि अमेरिका ने हिंदुस्तान पर राज किया। राज तो हमने किया था’

तीरथ के कोरोना वाइरस का शिकार होने पर भी अलग-अलग मजेदार चुट्कुले-मीम्स बन गए हैं। इनमें से एक में कहा गया है, `अब कुछ दिन तक मीडिया और आलोचकों-विरोधी दलों को कोई मुद्दा नहीं मिलेगा, क्योंकि सीएम आइसोलेशन में चले गए हैं’। तीरथ को इतनी सुर्खियां और नाम तो अरबों रुपए खर्च करने पर भी शायद ही मिले। उनको बयानों पर घेरने की कोशिश हो रही लेकिन उनका कुछ भी नहीं बिगड़ेगा तय है।

मोदी-शाह-संघ क्या इस बात पर तीरथ से नाराज हो सकते हैं कि उन्होंने मोदी को भगवान हो जाने की बात क्यों कही? कुम्भ में सभी को आने की छूट दे के साधु-संतों-अखाड़ों को खुश करने से क्या बीजेपी आला कमान-संघ नाराज होगा? रिप्ड (फटी) जींस संघ के एजेंडे में ही नहीं है। तीरथ को इस पर बयान के चलते भले मीडिया-विरोधी दलों के प्रहार झेलने पड़ रहे, लेकिन क्या इससे मोदी-शाह-मोहन भागवत को नाराजगी हुई होगी? हिंदुस्तान पर अमेरिका के राज को जुबान फिसलने भर से ज्यादा भाव नहीं मिलेगा।

पीएम मोदी एक नहीं अनेकों बार बहुत बड़ी तथ्यात्मक गलती भाषणों में करते रहे हैं। बीजेपी में अमेरिका मुद्दा शायद ही अहमियत पा सके। एक बात और, तीरथ पर विरोधी भले प्रहार कर रहे। आलोचना हो रही। इससे उनका कुछ भी नहीं बिगड़ेगा। क्या कोई ये मान लेगा कि उनको बीजेपी आलाकमान विधानसभा चुनाव से पहले हटाने की सोच भी सकता है। तीरथ कोरोना के कारण आइसोलेशन में हैं। उनके पास अभी वक्त है। वह आराम से बिना विघ्न-बढ़ा के खुद पर बने मीम्स-चुटकुलों का लुत्फ ले सकते हैं।       

More on this topic

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisment

Popular stories

You cannot copy content of this page