नेपालियों से अपील-`जिस देश में हैं वहाँ के कायदे-कानून मानें’:पेशे में सफलता पाएँ:कोरोना से बचाव जरूरी

Shah Times-Newsspace के Editor से Video Call पर बातचीत

Chetan Gurung

King of Nepal Gyanendra and Representative of CM Tirath Singh Rawat DG (information) Ranvir Singh Chauhan and Udit Ghildiyal

नेपाल के माहाराजधिराज श्री 5 सरकार ज्ञानेन्द्र वीर विक्रम शाहदेव कुम्भ में शरीक होने के लिए हरिद्वार पहुँच गए हैं। 14 अप्रैल तक वह यहीं रहेंगे और कुम्भ-गंगा स्नान का पुण्य अर्जित करेंगे। कल द्वितीय शाही स्नान में शरीक होंगे। आज उन्होंने आम श्रद्धालुओं की तरह निरंजनी अखाड़े में संतों संग जमीन पर बैठ के भोजन ग्रहण किया। Daily Shah Times और न्यूज़ पोर्टल `Newsspace’ के संपादक चेतन गुरुंग से हरिद्वार से वीडियो कॉल पर तकरीबन 7-8 मिनट तक बात भी की। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के प्रतिनिधि के तौर पर सूचना महानिदेशक रणवीर सिंह चौहान और उदित घिल्डियाल ने महराजा से हरिद्वार जा के मुलाक़ात की और मुख्यमंत्री की तरफ से उनका अभिनंदन किया।

King Gyanendra having lunch with saints in kumbh

महाराज ज्ञानेन्द्र कुम्भ में आए हैं। रेकॉर्ड के मुताबिक ये पहला अवसर है जब नेपाल के किसी महाराजा कुम्भ  में शामिल होने और गंगा स्नान के लिए आए हैं। उनका ये अनौपचारिक दौरा कल से बिना किसी शोर-शराबे और बड़े आयोजन के शुरू हो गया। वह निरंजनी अखाड़े पहुंचे। वहीं संतों और महामंडलेश्वरों से मुलाक़ात की। वहीं भूमि पर बैठ के अन्य संतों के साथ भोजन किया तो देखने वाले भी एक पल के लिए उनकी सादगी और सरलता देख हैरान दिखे।

Video Call between king of Nepal and Editor Chetan Gurung

वह देहरादून-हरिद्वार रोड पर होटल Godwin में रुके हुए हैं। कल वह द्वितीय शाही स्नान में शामिल होंगे। गंगा स्नान करेंगे। सूत्रों के अनुसार उनका देहरादून आने का भी कार्यक्रम था, लेकिन किन्हीं वजहों से ये कार्यक्रम फिलहाल स्थगित है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के साथ उनकी आधिकारिक मुलाक़ात का भी कार्यक्रम तय किया जा रहा था। वह भी स्थगित हो गया। इसके बाद आज मुख्यमंत्री की तरफ से उनकी करीबी उदित घिल्डियाल और सूचना महानिदेशक रणवीर सिंह चौहान ने उनसे हरिद्वार पहुँच के शिष्टाचार भेंट की। उनको मुख्यमंत्री का संदेश दिया और उनकी तरफ से अभिनंदन किया।

शाह टाइम्स और `Newsspace’ के लिए भी ये बहुत बड़े सम्मान की बात रही कि नेपाल के महाराजा ने संपादक चेतन गुरुंग से वीडियो कॉल पर काफी देर तक बात की। उन्होंने भारत-नेपाल की मैत्री और सांस्कृतिक विरासत का जिक्र किया तथा खुशी जताई कि नेपाल के लोग और भारतीय नेपाली पूरी निष्ठा-ईमानदारी से भारत के विकास और प्रगति में उल्लेखनीय भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने उत्तराखंड में नेपाली मूल के लोगों की दशा-स्थिति पर भी खुशी जताई। 

महाराज ज्ञानेन्द्र ने एक मिनट से अधिक का वीडियो संदेश भी `Newsspace’ को जारी किया। उन्होंने कहा कि नेपाली लोग जिस देश में रह रहे हैं, उस देश के कायदे-क़ानूनों का अनुपालन करें। जिस पेशे में हैं उस पेशे में सफलता पाएँ। कोरोना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि ये ऐसी महामारी है कि लोग चाह के भी आपस में नहीं मिल सकते हैं। उन्होंने नेपाल के लोगों की तरफ से सभी भारतीय नेपालियों को शुभकामना भी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here