महाराष्ट्र-MP-केरल की फ्लाइट से आने वालों की कोरोना जांच अधिक सख्त:DM आशीष

0
60

देहरादून प्रशासन ने कोरोना नए वेरियंट मिलने पर बढ़ाई सतर्कता-सख्ती  

Chetan Gurung

DM-Dehradun Dr.Ashish Shirwastava

महाराष्ट्र-केरल और मध्य प्रदेश से फ्लाइट ले के आने वालों की कोरोना जांच में अधिक सख्ती होगी। उनकी स्क्रीनिंग-सैंपलिंग अधिक बारीकी से होगी। SDM’s को DM डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने निर्देश दिए कि वे खास तौर पर होटल कर्मियों तथा सब्जी-फल वालों का टीकाकरण योजनाबद्ध ढंग से कराएं।

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका लगातार विशेषज्ञों की तरफ से जताई जा रही हैं। दूसरी लहर के लौट जाने के बाद जिस तरह लोग बिना कोरोना कर्फ़्यू हटे ही सड़कों-बाजार में बेहद लापरवाही संग उमड़ पड़े हैं, उसको देखते हुए तीसरी लहर की आशंका बेबुनियाद कहीं से नहीं दिख रही। इसके चलते ही केंद्र और राज्य सरकार के निर्देशों पर कोरोना को तीसरी बार राज्य में सिर न उठाने देने के लिए जिला प्रशासन भी जुटा हुआ है।

केरल-मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र उन राज्यों में हैं, जहां कोरोना केस अभी भी काफी हैं। इसके चलते ही राज्य सरकार वहाँ से आने वालों की सख्त सैंपलिंग-जांच कर रही है। डोईवाला के चिकित्सा अधीक्षक को DM आशीष ने इस बारे में विशेष रूप से निर्देश दिए। उन्होंने VC में संबन्धित प्रशासनिक और चिकित्साधिकारियों से कहा कि कोरोना के नए वेरियंट को देखते हुए अधिक सतर्क रहें। टीका करण में तेजी लाई जाए।

 उन्होंने निर्देश दिए कि, ‘ग्रामीण क्षेत्रों में मोबाईल टीमें बढ़ा के टीकाकरण तेज करें। ग्रामीण एवं पर्वतीय क्षेत्रों में मोबाईल टीमें बढ़ा के इस मिशन को अंजाम दें। कोई भी भी व्यक्ति टीके से वंचित ना रहे। एमओआईसी उप जिलाधिकारियों एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों से समन्वय कर टीकाकरण को त्वरित गति से पूर्ण करें’।

DM ने एमओआईसी (सहसपुर) को निर्देश दिए कि औद्योगिक क्षेत्रों में कामगारों एवं श्रमिकों के टीकाकरण के लिए महाप्रबन्धक (जिला उद्योग केन्द्र) से समन्वय किया जाए। जिला  सर्विलांस अधिकारी को निर्देश दिए कि जिन कार्यस्थलों/स्थानों पर टीके की द्धितीय डोज लगनी है वहां पर सम्बन्धित संस्थान से समन्वय कर शिविर का आयोजन किया जाए। उन्होंने कार्मिकों एवं उनके परिजनों के टीकाकरण के लिए तीलू रौतेली के स्थान पर महिला आईटीआई, सर्वे चौक में जम्बो साइट बनाने के निर्देश दिए। 

जिलाधिकारी ने कहा धीरे-धीरे Unlock शुरू हो रहे हैं। ऐसे में विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। उप जिलाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में कोविड बिहेवियर का अनुपालन करवाने के साथ साथ ही मास्क का उपयोग एवं सामाजिक दूरी के नियमों का सख्ताई से पालन कराना होगा। जो लोग गाईड लाईन्स का पालन नहीं कर रहें, उनके चालान करने के साथ ही चेतावनी जारी कि जाए कि पुनरावृत्ति होंने पर आपदा प्रबन्धन अधिनियम के अन्तर्गत कार्यवाही होगी। डॉ. आशीष ने बताया कि आपदा कन्ट्रोलरूम में होम आयशोलेशन में रह रहे व्यक्तियों एवं वृद्धजनों की सहायता के लिए स्थापित हेल्पलाईन पर आज कोई कॉल नहीं आई।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here