‘-19 Covidराहत::टेस्टिंग में सुधार-काबू में मौतें-तीसरी लहर तभी आएगी जब हम खुद बुलाएँगे

0
180

LockDown की Unlocking बढ़ाई जाए पर शर्तें फिलहाल बरकरार रहें

Chetan Gurung

उत्तराखंड में कोरोना के केस आज सिर्फ 128 आए और मौतें भी सिर्फ 2 हुईं। जो दूसरी लहर में अब तक का सबसे छोटा आंकड़ा है। टेस्टिंग (आज 24923) में सुधार है और टीकाकरण में भी रफ्तार दिखने लगी है। डेल्टा प्लस वेरिएंट की खौफ के साए में अब Covid-19 की तीसरी लहर तभी आए सकती है जब लोग खुद उसको आने की दावत देंगे। अब वक्त का तकाजा आ गया है कि LockDown से Gym और पार्कों को भी राहत दी जाए, जिससे लोग न सिर्फ खुद को स्वस्थ रख के महामारी से लड़ने के लिए तैयारी कर सके, बल्कि मानसिक तौर पर भी वे स्वस्थ रहें। Black Fungus ने जरूर आज 5 जिंदगी और लील ली।

जिंदगी की गाड़ी अब धीरे-धीरे सही Unlocking और कोरोना पर काबू के साथ ही पटरी पर लौट रही। सरकार की कोशिशों और लोगों की शुरुआती दौर में दहशत के चलते आत्मानुशासन ने महामारी को एक बार फिर शिकस्त खानी पड़ी। खतरा सिर्फ इस बात को ले के है कि लोगों में एक बार फिर से लापरवाही नजर आ रही। बाजार लोगों से अटे पड़े हैं। सड़कों पर बेवजह गाड़ियाँ दौड़ती दिख रही हैं। देश तीसरी लहर की बात कर रहा है। उत्तराखंड सरकार ने भी तीसरी लहर आने पर पर्याप्त बंदोबस्त होने का दावा किया है। भले इसके पीछे हाई कोर्ट का दबाव भी है।

हकीकत ये है कि तीसरी लहर भी तभी आ सकती है जब लोगों की लापरवाही बढ़ जाए। प्रशासन भी चादर तान के सो जाए। तीसरी लहर सरकार के लिए शर्मनाक होगी। उत्तराखंड के लिए अच्छी बात ये है कि Active केस (2627) लगातार गिर रहे हैं। बागेश्वर में एक भी केस सामने नहीं आया। चंपावत (1) में सिर्फ खाता ही खुला। देहरादून में 28 केस सामने आए जो आबादी के लिहाज से बहुत कम है। खास बात ये है कि सरकार के तमाम फरमानों के बावजूद मौतों की रिपोर्ट वक्त पर नहीं आ रही। आज भी 7 पुरानी मौतें सामने आईं।

Black Fungus से राज्य में मौतों का आंकड़ा 90 हो गया। इनमें 37 मरीज दूसरे राज्यों से ईलाज कराने आए थे। 483 कुल केसों में से 229 मरीज अन्य राज्यों से वास्ता रखते थे या रखते हैं। आज जो 5 नए केस मिले, उनमें से 3 अन्य राज्यों के हैं। इस तरह उत्तराखंड में Black Fungus का उतना खतरा नहीं दिख रहा।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here