DGP का पुलिस कप्तानों को फरमान:सोशल मीडिया इनपुट्स पर भी FIR हों:महीने भर में हो जाए शिकायतों पर कार्रवाई

0
69

Gangsters Act का इस्तेमाल कर अपराधियों पर नकेल डालें:इश्तहारी मुजरिमों के सिर पर ईनाम बढ़ाएँ

Chetan Gurung

उत्तराखंड पुलिस के मुखिया DGP अशोक कुमार ने आज कानून-व्यवस्था सुदृढ़ करने के मद्देनजर राज्य के पुलिस कप्तानों को सोशल मीडिया इनपुट्स पर भी FIR दर्ज करने, महीने भर के भीतर शिकायतों पर कार्रवाई करन्ने और इश्तहारी मुजरिमों के सिर पर ईनाम बढ़ाने के फरमान सुनाए।

Video Conference के जरिये उन्होंने कई निर्देश जारी किए। हत्या के मामलों में जल्द ही खुलासा और गिरफ्तारियाँ सुनिश्चित करने तथा वाहन चोरी, चेन लूट जैसी वारदातों में शामिल मुल्जिमों को जल्द से जल्द सींखचों के पीछे पहुंचाने के निर्देश दिए। 3 साल से अधिक समय से लंबित विवेचनाओं पर उन्होंने असंतोष जताया। IGP (L-O) को 3-4 दिनों में अधिकारियों के साथ समीक्षा कर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। एक वर्ष से अधिक से लम्बित विवेचनाओं पर 1 से 31 जुलाई तक अभियान चला कर उनको निस्तारित करने को कहा। इसकी ज़िम्मेदारी दोनों रेंज (गढ़वाल-कुमायूं) के प्रमुखों पर डाली।

साईबर अपराधों पर नियंत्रण के लिए इसके सेल में बेहतर इंस्पेक्टर-SI को शामिल कर उनके अधिकारों में वृद्धि करने के निर्देश दिए। संगठित अपराध में लिप्त अपराधियों के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट में कार्रवाई का फरमान भी दिया। NDPS से जुड़े जुर्म में शामिल अपराधियों पर जल्द कानून का फंदा डालने की जरूरत प्रकट की। ये निर्देश भी दिए कि शिकायती पत्रों का निस्तारण एक माह के भीतर कर लिया जाए। इनामी अपराधियों की गिरफ्तारी ना होने पर उनकी इनामी धनराशि को बढ़ाई जाए।

अशोक ने कहा कि सोशल मीडिया एवं सोशल मीडिया के बढ़ते असर को देखते हुए इसके मॉनिटरिंग सेल को प्रभावी करें। सोशल मीडिया से प्राप्त इनपुट पर कार्यवाही करते हुए एफआईआर दर्ज करना भी सुनिश्चित करें। डायल 112 के अन्तर्गत देहरादून की तर्ज पर समस्त जनपदों में 112 के कार्यालय स्थापित कर चीता पुलिस, सीपीयू, इन्टरसेप्टर, डायल 112 वाहन, हाईवे पैट्रोल, एचपीयू, को इससे जोड़ा जाए।

DGP ने विभागीय जांचों के मामले में प्राथमिक जांचों का निस्तारण जल्द करने और कठिन निर्णय लेने से ना बचने की नसीहत भी दी। समीक्षा बैठक में ADGP (प्रशासन) अभिनव कुमार-IGP अमित सिन्हा-IG (L-O) वी मुरूगेशन-IG (Intelligence) संजय गुन्ज्याल-IGP (कार्मिक) पुष्पक ज्योति-कार्मिक, DIG नीलेश आनन्द भरणे-नीरू गर्ग- DIG (गढवाल), अजय सिह-SSP-STF) भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here