Big Breaking::सुखबीर सिंह संधु नए मुख्य सचिव:ओमप्रकाश CCBoR!CM पुष्कर ने दिखाया दम:Top से की नौकरशाही में फेरबदल की शुरुआत

Related Articles

पूरे 2 साल बचे हैं SSS के:CM सचिवालय को और चुस्त बनाया जाएगा:अमित-शैलेश बने रहने के आसार

शासन स्तर पर खुल के होंगे फेरबदल:एक आला IPS को भी शासन में दी जा सकती अहम भूमिका

Chetan Gurung

1988 बैच के IAS अफसर और इन दिनों NHAI के अध्यक्ष सुखबीर सिंह संधु उत्तराखंड के नए मुख्य सचिव होंगे। वह ओमप्रकाश की जगह लेंगे। उनको Chief Commissioner राजस्व परिषद बनाया जा सकता है। मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही पुष्कर सिंह धामी ने ये बहुत बड़ा फैसला किया है। वह नौकरशाही को कसने और चुस्त बनाने में जुट गए हैं। सूत्रों के मुताबिक फ़ाइल में सुखबीर-ओमप्रकाश से जुड़े आदेश पर CM ने दस्तखत कर दिए हैं। कार्मिक विभाग के आदेश अभी जारी नहीं हुए हैं। संधु केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर थे। आज उत्तराखण्ड सरकार में उनकी वापसी के आदेश हो गए।

Chief Minister Office (CMO) को भी और चुस्त तथा प्रभावशाली बनाया जा रहा है। सचिव (मुख्यमंत्री) अमित सिंह नेगी और शैलेश बगौली को CMO में बनाए रखना तय है। एक वरिष्ठ IPS अफसर को भी अहम ज़िम्मेदारी के साथ CMO में लाने पर विचार चल रहा। शासन स्तर पर नए CM ढंग से फेरबदल करने के मूड में हैं। एक ACS-एक सचिव स्तर के अफसर को भी CMO में लाया जा सकता है।  

त्रिवेन्द्र सिंह रावत की सरकार में नौकरशाही के बहुत हावी रहने के आरोप लगे थे। इसका खामियाजा मुख्यमंत्री को CM की कुर्सी गंवा के भुगतना पड़ा था। तीरथ सिंह रावत CM बने तो वह भी नौकरशाही को छू तक नहीं पाए। इससे अवाम में दब्बू सरकार होने का संदेश गया। जो नौकरशाही के आगे दबी या सिमटी रहती है। पुष्कर ने सरकार पर लगे इस दाग को धोने का फैसला किया है। इसकी शुरुआत उन्होंने नीचे से न कर UP वाले अंदाज में ऊपर से करने का फैसला किया है।

सुखबीर को उत्तराखंड लाने का फैसला नौकरशाही की उच्छृंखलता को काबू करने, सरकारी मशीनरी को चुस्त-दुरुस्त रखने और सरकार तथा नौकरशाही की गिरती साख को उठाने की कोशिश मानी जा रही। सुखबीर के पास काम करने के लिए काफी वक्त है। उनका रिटायरमेंट ठीक 2 साल बाद 6 जुलाई 23 को है। ओमप्रकाश की नौकरी अगले साल 14 मई तक है। नौकरशाही में फेरबदल इतने में ही नहीं थमने वाला है। सचिवों-प्रमुख सचिव-ACS स्तर पर भी खूब धूम-धाम होने के आसार हैं।

साफ-सुथरी छवि वाले उपेक्षित चल रहे नौकरशाहों को मुख्य धारा में लाए जाने की तैयारी है। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर DM-SSP’s के स्तर पर भी फेरबदल काफी होने वाले हैं। ऐसा सूत्र बता रहे हैं। नए मुख्यमंत्री की खास बात ये है कि वह हर आला और निचले स्तर के नौकरशाहों को खुद ही करीबी तौर पर जानते-पहचानते हैं। उनको बहुत अधिक सलाह-सुझाव की दरकार नौकरशाहों को ले के नहीं है। पुष्कर जानते हैं कि शासन को अच्छे ढंग से आगे बढ़ाने और विकास योजनाओं को सिरे चढ़ाने में नौकरशाहों की अहम भूमिका होती है। वही लटकाने के लिए जिम्मेदार होते हैं।

नौकरशाही के नए Boss बन रहे सुखबीर की प्रतिष्ठा सख्त और बेहतर टास्क मास्टर की है। वह राधा रतूड़ी के बैच के हैं। Civil list में राधा ऊपर हैं लेकिन अपने मूल कैडर से UP फिर उत्तराखंड आने के कारण सुखबीर उत्तराखंड की सिविल लिस्ट में उनसे ऊपर हैं। देश भर में NHAI के शानदार कार्यों के लिए मंत्री नितिन गडकरी के साथ ही सुखबीर के अहम योगदान को दरकिनार नहीं किया जा सकता है। उनको पंजाब के शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के भी बहुत करीबियों में शुमार किया जाता है।

More on this topic

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisment

Popular stories

You cannot copy content of this page