Big News::देवस्थानम बोर्ड Act में सकारात्मक बदलाव के हक में सरकार:CM पुष्कर

Related Articles

समीक्षा के बाद उच्च स्तरीय समिति देगी रिपोर्ट:उत्तरकाशी के आपदा पीड़ितों को 5 लाख    

Chetan Gurung

उत्तरकाशी में आपदा पीड़ितों से मिलते CM पुष्कर सिंह धामी

उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम बोर्ड को ले के पहाड़ में रावल-पंडों तथा हक हकूकधारियों में उबाल के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सरकार बोर्ड के Act में सकारात्मक बदलाव के हक में है। ऐसा करने पर किसी किस्म की कानूनी दिक्कत पेश न आए, इसलिए उच्च स्तरीय समिति का गठन किया जाएगा। उसकी सिफ़ारिश पर ही बोर्ड के बारे में आगे फैसले लिए जाएंगे।

उत्तरकाशी में पत्रकारों से मुख्यमंत्री ने कहा कि बोर्ड Act 15 जून 2020 में अस्तित्व में आया। हक हकूक धारी-पंडों और स्थानीय कारोबारियों को इस फिक्र या आशंका से दूर रहना चाहिए कि सरकार चार धामों के नियंत्रण को अपने कब्जे में लेना चाहती है। ऐसा नहीं है। सरकार किसी के धार्मिक और आर्थिक हितों को छीनने नहीं जा रही। ये उसका उद्देश्य ही नहीं है।  

सरकार सिर्फ धामों में व्यवस्थित उपाय करने, बिजली-पानी, साफ-सफाई तथा आवास की व्यवस्था को बेहतर करना है। राज्य की आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित करने में चार धाम यात्रा की अहम भूमिका रहती है। राज्य के सभी लोगों के रिश्ते चार धाम यात्रा से जुड़े हैं। सरकार ने सभी धर्मों के लोगों से विचार-विमर्श किया है। इसके बाद ही उच्च स्तरीय समिति के गठन का फैसला किया गया है।

देवस्थानम बोर्ड को ले के पहाड़ बहुत गरम है। पंडे-हक-हकूक धारी-रावल इसके गठन को ले के न सिर्फ नाराज हैं बल्कि आंदोलन करते रहते हैं। इसका गठन CM रहने के दौरान त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने किया था। विधानसभा चुनाव को ये मुद्दा प्रभावित कर सकता है। दूसरी तरफ त्रिवेन्द्र लगातार ये कह रहे हैं कि बोर्ड के गठन का फैसला सही था। इससे धामों की व्यवस्था बेहतर होगी। इसके चलते पुष्कर सरकार के लिए बोर्ड को ले के तत्काल-ठोस फैसला लेना मुश्किल सा लग रहा था। इसके बावजूद मुख्यमंत्री ने आज उत्तरकाशी में ये ईरादा जतला दिया कि उनकी सरकार संशोधन पर हठी न हो के लचीला रुख अपनाएगी। समिति की रिपोर्ट जैसी भी होगी, उसको अमल में लाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने ये ऐलान भी आज किया कि आपदा प्रभावितों को निर्धारित-अनुमन्य 4 लाख और 1 लाख रुपए मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से भी दिया जाएगा। पुष्कर चॉपर से उत्तरकाशी पहुंचे लेकिन मौसम खराब था तो वह सड़क मार्ग से ही जाने के लिए तैयार हो गए थे। उनका बाकायदा कार्यक्रम CM कैंप कार्यालय से जारी भी हो गया था। बारिश थमने और मौसम ठीक होने पर वह बाद में चॉपर से ही गए। उनके साथ मंत्री गणेश जोशी भी गए। पुष्कर ने मांडों-कंकराड़ी गाँव का दौरा किया। वह आपदा से हुए नुक्सान का जायजा लिया। आपदा में जान गंवा चुके लोगों के परिजनों को ढाढस बँधाया।  

More on this topic

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisment

Popular stories

You cannot copy content of this page