भव्य-दिव्य होगा सैन्य धाम:हर शहीद के आँगन की मिट्टी भी निर्माण में इस्तेमाल होगी

0
126

CM पुष्कर ने कहा, `राष्ट्रभक्ति-सैनिकों के शौर्य का होगा प्रतीक’

कारगिल शहीद मेख गुरुंग पेट्रोल पंप को बचाएं सरकार:आश्रितों की रोजी-रोटी न छीनें   

Chetan Gurung

कारगिल शहीद मेख गुरुंग पेट्रोल पंप सटे डम्पिंग ग्राउंड पर शहर भर का कूड़ा गिरता है। पंप पर ही कूड़ा भी गिरता है। गाड़ियाँ खड़ी कर दी जाती हैं। मना करो तो सफाई वाले लड़ाई करते हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देहरादून में सैन्य धाम के निर्माण के लिए कुछ निर्देश साफ-साफ दिए। हर शहीद के आँगन की मिट्टी का इस्तेमाल इसके लिए होगा। राष्ट्रभक्ति और शौर्य का प्रतीक होगा। अन्य राज्यों के शहीद स्मारकों का भी अध्ययन किया जाएगा। सरकार की मंशा पर शक नहीं लेकिन हकीकत ये है कि सिस्टम की नाकामी और घनघोर लापरवाही शहीदों के परिवारों की रोजी-रोटी तबाह तबाह कर रही और इसके जिम्मेदारों का भी बांका नहीं हो रहा।  

कारगिल शहीद मेख गुरुंग की पत्नी नैना गुरुंग:सम्मान शाल ओढ़ा के नहीं रोजी-रोटी बचा के करें:CM पुष्कर सिंह धामी से इंसाफ की उम्मीद

मुख्यमंत्री आवास स्थित कैम्प कार्यालय में सैन्यधाम पर बैठक में निर्माण कार्य को चरणबद्ध ढंग से अंजाम देने और भव्य एवं दिव्य स्वरूप देने का फैसला हुआ। ये भी तय हुआ कि अन्य राज्यों में बने शहीद स्मारकों का भ्रमण भी किया जाए। उत्तराखण्ड में बनने वाले सैन्यधाम की भव्यता के लिए क्या किया जा सकता है, इसके लिए पूरी योजना बनाई जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि शहीद सम्मान यात्रा के दौरान शहीद सैनिकों के आंगन की मिट्टी सैन्यधाम के निर्माण के लिए लाई जाएगी। सैन्यधाम का स्वरूप ऐसा होगा कि यह राष्ट्रभक्ति एवं सैनिकों के शौर्य और पराक्रम का प्रतीक होगा। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहीद सम्मान यात्रा के आयोजन के लिए सभी तैयारियां जल्द पूर्ण की जाए। यात्रा की शुरूआत अक्टूबर-2021 के प्रथम सप्ताह से प्रस्तावित है। यात्रा का पूरा रूट चार्ट जल्द तैयार किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड के असंख्य जवानों ने देश की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। इस कार्यक्रम को भव्यता प्रदान करने के लिए जन सहयोग लिया जाएगा।  

बैठक में सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी, मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु, अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, प्रमुख सचिव एल.फैनई, सचिव अमित नेगी, वी.षणमुगम, मेजर जनरल सम्मी सभरवाल (अप्रा), जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आर. राजेश कुमार उपस्थित थे। सरकार भले शहीदों के सम्मान को ले के कदम उठा रही है लेकिन ये भी सच है कि राजधानी में ही शहीदों के परिवारों और आश्रितों की रोजी-रोटी के साथ ना-इंसाफ़ी हो रही।

हरिद्वार बाई पास रोड पर राधा स्वामी सत्संग के बगल में कारगिल शहीद मेख गुरुंग की पत्नी नैना गुरुंग का पेट्रोल पंप है। वह खुद और शहीद के छोटे भाई कुमार भी यहाँ बैठते हैं। नगर निगम ने पेट्रोल पंप से सटा के डम्पिंग ग्राउंड बना दिया है। यहाँ शहर भर का कूड़ा डाला जा रहा है। आलम ये है कि यहाँ सड़ांध से पेट्रोल पंप पर खड़ा होना तक नामुमकिन हो गया है। बीमारी पैदा होने का खतरा कर्मचारियों के लिए भी हो गया है। शहीद की पत्नी की फिक्र ये है कि उनका कारोबार आधा भी नहीं रह गया है।

कर्मचारियों की तनख्वाह निकालना भी मुश्किल होता जा रहा। दिन भर की बिक्री लगातार कम होती जा रही है। पहले ही पेट्रोल पंपों की तादाद बढ़ जाने से प्रतिस्पर्द्धा बढ़ चुकी है। उनके मुताबिक वह Indian Oil के अफसरों संग मेयर और सरकार के अफसरों से मिल के गुजारिश कर चुकी हैं कि डम्पिंग ग्राउंड को जल्द से जल्द हटाया जाए। ऐसा कुछ होता दिख नहीं रहा। कूड़ा ले के आने और जाने वाली गाड़ियों को पंप के भीतर से न गुजरने पर कहो तो वे लड़ने आ जाते हैं। नैना गुरुंग के अनुसार पुलिस और नगर निगम इस दिशा में उनकी कुछ मदद नहीं कर रहे। शहीदों के सम्मान का मतलब साल में एक बार शाल ओढ़ा देना ही रह गया है। इसका कोई औचित्य नहीं अगर उनकी रोजी रोटी ही सिस्टम छीन ले और शिकायत करने पर आँखें मूँद ले।

उनके मुताबिक नए CM पुष्कर सिंह धामी खुद सैनिक पिता के पुत्र हैं। उनसे अब मदद की उम्मीद है। Indian Oil के अफसरों के अनुसार ये पेट्रोल पंप कभी शहर के सबसे अधिक बिक्री वाला हुआ करता था। आज भी इसकी संभावना सबसे अधिक है। कूड़ा बगल में डालने और कूड़े की गाड़ियाँ भी पंप के अहाते से गुजरने और खड़े तक होने और दुर्गंध ने इसकी बिक्री पर बुरी तरह चोट की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here