नए राज्यपाल LT Gen गुरमीत देहरादून पहुंचे:BJP के लिए अहम साबित होगी जनरल-पुष्कर की जोड़ी

0
312

3 कैबिनेट मंत्रियों ने की एयरपोर्ट पर आगवानी:Guard of Honour दिया:कल शपथ ग्रहण समारोह  

Chetan Gurung

जौली ग्रांट एयरपोर्ट पर नए राज्यपाल LT Genral गुरमीत सिंह की अगवानी करते मंत्री धन सिंह रावत, गणेश जोशी और स्वामी यतीश्वरानंद। इस मौके पर जनरल को पुलिस की तरफ से गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया

नए राज्यपाल Lt General (Ret) गुरमीत सिंह आज वायुमार्ग से देहरादून पहुँच गए। जौली ग्रांट एयरपोर्ट पर उनकी आगवानी 3 मंत्रियों डॉ. धन सिंह रावत, गणेश जोशी और स्वामी यतीश्वरानंद ने गुलदस्ता दे कर किया। उनको हवाई अड्डे पर ही पुलिस की टुकड़ी ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। कल राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह होगा। आने वाले विधानसभा चुनाव में साफ छवि वाले राज्यपाल और मुख्यमंत्री की जोड़ी BJP के लिए अहम साबित हो सकती है।

नए राज्यपाल गुरमीत सिंह के आने से CM पुष्कर सिंह धामी को भी काफी राहत और सहारा मिलेगा!

बेबीरानी मौर्य को कार्यकाल पूरा होने से 2 साल पहले हटा के शानदार सैन्य कैरियर वाले Lt Gen गुरमीत को उत्तराखंड उनकी जगह भेजा गया है। पंजाब की पृष्ठभूमि वाले गुरमीत रिटायर होने के बाद दिल्ली में सामान्य जिंदगी गुजार रहे थे। BJP आला कमान और PM नरेंद्र मोदी ने उनको कई कारणों से उत्तराखंड भेजा है। ऐसा माना जा रहा है।

उनके आने से सैनिक बाहुल्य वाले उत्तराखंड में सैनिकों-पूर्व सैनिकों और अन्य Uniform service वालों पर Positive असर BJP को ले के पड़ेगा। उधम सिंह नगर के किसानों और किसान बिल के कारण नाराज सिक्खों में नरमी आएगी। राज भवन को ले के तमाम विवादों के भी खात्मे की उम्मीद अब हो गई है।

बेबी के कार्यकाल में सरकार और राजभवन के रिश्ते बहुत तल्ख हो गए थे। बल्कि सार्वजनिक हो गए थे। इससे सरकार और BJP की छवि पर भी असर पड़ रहा था। विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को ले के भी तमाम चर्चे और आरोपों की बौछार हो रही थी। सरकार उनका कुछ नहीं बिगाड़ पा रही थी।

माना जा रहा था कि कुलपतियों पर राजभवन का जबर्दस्त वरदहस्त और संरक्षण था। विश्वविद्यालयों की प्रिंटिंग के काम भी आगरा में होने से सवाल उठते थे। बेबीरानी आगरा से ही हैं। LT Gen गुरमीत की छवि और प्रतिष्ठा बेदाग रही है। वह सेना के डिप्टी चीफ़ रहे हैं। आज उन्होंने गार्ड ऑफ ऑनर से पहेल पुलिस दस्ते का निरीक्षण भी किया। पहले त्रिवेन्द्र सिंह रावत को हटा के तीरथ सिंह रावत को CM बनाने का फैसला BJP आला कमान ने किया था।

ये दांव घातक दिखने पर युवा और विवादों से दूर रहने वाले ऊर्जावान-परिपक्व पुष्कर सिंह धामी को सरकार का तीसरा नया मुखिया बनाया गया। अब राज्यपाल भी साफ-सुथरी छवि वाले ला के उत्तराखंड को हर हाल में अपने पास ही रखने की दृढ़ मंशा मोदी-शाह ने जतला दी है। राजभवन की छवि साफ सुथरी हो तो सरकार पर भी उसका असर पड़ता है। अब आगे के चुनावी महासमर में गुरमीत-पुष्कर की जोड़ी BJP के लिए अहम भूमिका निभा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here